बीजेपी विधायक से लालू की बातचीत का ऑडियो वायरल, पढ़िए बातचीत का पूरा ब्योरा

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : महागठबंधन 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव जरूर हार गया. लेकिन अभी भी अपनी हार को जीत में बदलने की उनकी कोशिश जारी है. इसका जीता जागता उदाहरण मिला है. स्पीकर पद पर चुनाव में सत्तापक्ष को पटखनी देने के लिए जेल से लालू यादव फिल्डिंग कर रहे थे. लेकिन वो कैच आउट हो गए. पूर्व डिप्टी सीएम व प्रदेश बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया है.

विधानसभा स्पीकर चुनाव के लिए वोटिंग से पहले लालू यादव का एक ऑडियो वायरल हो गया. जिसमें वो पिरपैती से बीजेपी विधायक ललन पासवान से मोबाइल पर बात कर रहे हैं. लालू यादव मोबाइल पर ललन पासवान को स्पीकर के चुनाव की वोटिंग से एब्सेंट हो जाने की बाते कह रहे हैं. विधायक को लालू ने 3 बार अब्सेंट हो जाने की बात कही, ऑडियो मे वो ललन पासवान को कह रहे है कि कह देना कोरोना हो गया. आगे कहा कि तुम्हें आगे बढ़ाएंगे.



पूरी बातचीत पढ़िए… सबसे पहले लालू का सहायक: हैलो, प्रणाम सर, विधायक जी बोल रहे हैं… विधायक का पीए: नहीं, उनका पीए बोल रहा हूं लालू का सहायक: दीजिए तो, साहब बात करेंगे माननीय लालू प्रसाद यादव… विधायक का पीए: हैलो, कहां से सर… लालू का सहायक: रांची से..साहब बात करेंगे.. लालू: हां, पासवान जी, बधाई… पासवान: प्रणाम, चरण स्पर्श.. लालू: हां, सुनो, हम तुमको आगे भी बढ़ाएंगे वहां…कल (25 नवंबर) जो स्पीकर का चुनाव है…हम तुमको मंत्री बनाएंगे…कल इनको (जदयू-भाजपा सरकार) गिरा देंगे… पासवान: हम तो पार्टी में हैं न सर… लालू: पार्टी में हो तो एब्सेंट हो जाओ…कोरोना हो गया था, स्पीकर (यहां बात साफ सुनाई नहीं दी)…फिर हम लोग देख लेंगे न… पासवान: पार्टी में हैं सर, थोड़ा सा…(हिचकिचाते हुए) ठीक है सर… लालू: एब्सेंट हो जाओ तुम पासवान जी… पासवान: आपके संज्ञान में हो गए हैं हम सर…बात करेंगे..ठीक है… लालू: ठीक है..एब्सेंट हो जाओ

बीजेपी विधायक ललन पासवान ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि ‘हमको लगा कि सबने चुनाव जीतने के बाद सबसे हमको बधाई दी थी. मेरे पीए ने फोन उठाया था. बताया कि कोई लालू प्रसाद यादव बोल रहे हैं. मैंने उन्हें प्रणाम किया, चरण स्पर्श भी किया, उन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया. फिर वे कहने लगे कि हमारा साथ दो, स्पीकर को गिराना है, सरकार को गिराना है, आगे बढ़ाएंगे, मंत्री बनाएंगे.

मैंने उनसे कहा कि सर, मैं पार्टी से हूं और ऐसा नहीं कर सकता. जो बातचीत हुई, वह ऑडियो में स्पष्ट है. उसे सुना जा सकता है. जिस वक्त बातचीत हुई, मैं पार्टी के माननीय नेता सुशील कुमार मोदी के आवास पर ही था. जैसे ही पीए ने बताया कि लालू जी का फोन है, मैं चौकन्ना हो गया. मैंने तुरंत सुशील जी को इस बारे में बताया.’