2019 तक भारत में 39 करोड़ लोगों के पास नहीं रहेगी अच्छी नौकरी, बढ़ेगी बेरोजगारी

लाइव सिटीज डेस्क : यह रिपोर्ट चौंकाने वाली है. खास कर भारतीयों के लिए. नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं को घोर निराशा का सामना करना पद सकता है. रिपोर्ट ILO की है. इसके मुताबिक देश में 77 फीसदी नौकरियां कम हो जाएंगी. बेरोजगारी चरम पर होगी. अंतरराष्‍ट्रीय श्रमिक संगठन की ताजा रिपोर्ट में यह चौंकाने वाला दावा किया गया है.
रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2017 से 2019 के दौरान भारत में नौकरियों पर संकट होगा. ऐसा नहीं है कि इस अवधि में नौकरियां नहीं होंगी लेकिन इनका स्‍तर ठीक नहीं होगा.  मोदी सरकार के सभी फैसले बिलकुल सही, बेरोजगारी को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया 
संगठन ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि भारत सहित एशिया के देशों में दो से ढाई करोड़ के बीच नौकरियों का सृजन तो होगा लेकिन वे अच्‍छे किस्‍म की नहीं होंगी. भारत पर भी इसका खासा प्रभाव पड़ेगा. यहां लगभग 39 करोड़ लोगों के पास ढंग का काम नहीं होगा जिसकी मार सबसे ज्‍़यादा युवाओं को झेलनी होगी.
इसका मतलब ये हुआ कि भारत में 77 प्रतिशत कर्मचारी अच्‍छे जॉब के लिए परेशान हो रहे होंगे. बेरोजगारी दर भी बढ़ने की आंशका है. आपको बता दें कि भारत में सरकार के जॉब क्रिएशन के दाव भी सच होते नहीं दिख रहे हैं. बेरोजगारी बढ़ रही है. इसके लिए केंद्र सरकार की आलोचना भी खूब की जा रही है. इसके अलावा भी एनी कई आर्गेनाईजेशन की रिपोर्ट भी कमोबेश यही जानकारी दे रहे हैं कि आने वाले दिनों में भारत में नौकरी में कमी आ जाएगी. बेरोजगारी बढती ही जाएगी.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया में 72 प्रतिशत, दक्षिण पूर्व एशिया में 46 एवं पूर्वी एशिया में 31 प्रतिशत कर्मचारियों के पास बेकार जॉब होंगे. यह स्थिति काफी चिंताजनक होगी.

About Ranjeet Jha 2861 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*