विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी को एक और बड़ा झटका, अब इस नेता ने छोड़ दी पार्टी

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी को एक और बड़ा झटका लगा है. पार्टी के पूर्व कद्दावर नेता मोहम्मद इलियास हुसैन के बेटे फिरोज हुसैन ने प्रदेश महासचिव के पद से इस्तीफा दे दिया. उऩ्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी त्यागपत्र भी दे दिया है.

पार्टी से इस्तीफा देते हुए फिरोज हुसैन ने आरजेडी पर मूल सिद्धांत से भटकने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि आरजेडी  अब जनता की पार्टी न रहकर एक परिवार की पार्टी बन चुकी है. अल्पसंख्यक विरोधी, पिछड़ा विरोधी और विकास विरोधी पार्टी बन गयी है.



आगे उन्होंने कहा कि आरजेडी आज सांप्रदायिक शक्तियों के हाथों कठपुतली बनकर लूट-खसोट वाली पार्टी बन चुकी है जिसका नेतृत्व पति-पत्नी, पुत्र-पुत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह कर रहे हैं. लोहिया, कर्पूरी एवं जगदेव बाबू के सिद्धांतों से हट गयी है.

आरजेडी का नेतृत्व करने वाले बिहार के गरीब, शोषित, पीड़ित, वंचित और अल्पसंख्यक हितैषी नहीं रह गए हैं. राज्यसभा, विधान परिषद एवं विधान सभा चुनाव में पैसे लेकर उम्मीदवार बनाए जा रहे हैं. कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जा रही है.

बता दें कि फिरोज हुसैन के पिता मोहम्मद इलियास हुसैन बहुचर्चित अलकतरा घोटाले में सजायाफ्ता हैं. झारखंड की अदालत ने चार साल की कैद की सजा सुनाई है. सजा होने के बाद नवंबर 2018 में विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने उनकी सदस्यता समाप्त कर दी थी. इलियास हुसैन डेहरी विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे. उनकी विधायकी समाप्त होने के बाद बेटे फिरोज हुसैन ने उप चुनाव में उसी सीट से राजद से अपना दावा ठोका था.