‘लोकसभा फतह करना है तो बयानबाजी बंद करें एनडीए के नेता, नुकसान होगा’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः लोकसभा चुनाव से पहले बिहार में बयानबाजियों का दौर लगातार जारी है. खासकर एनडीए में भेड़ियाधसान हो रहा है. रोज-रोज एनडीए के सहयोगी दलों में किचकिच जारी है. इसी बीच जदयू की ओर से आए एक बयान ने गर्मी बढ़ा दी है. नीतीश सरकार में शामिल मंत्री खुर्शीद आलम ने दीपावली के मौके पर उपेंद्र कुशवाहा पर ‘बम’ की तरह हमला किया है. अब खुर्शीद के बयान पर आरएलएसपी की ओर से पलटवार आया है.

बयानबाजी से गठबंधन को खतरा

नीतीश सरकार में मंत्री खुर्शीद आलम के बयान पर आरएलएसपी के सीनियर लीडर भगवान सिंह कुशवाहा ने कहा है कि ऐसे बयानों से बचने की जरूरत है. उन्होंने साफ-साफ कहा कि ऐसे समय में जब गठबंधन मजबूत हो रहा है, तो बयानबाजी नहीं करनी चाहिए. कुशवाहा ने कहा कि लोकसभा में एनडीए को जीतना है. नेताओं की ऐसी बयानबाजी गठबंधन को नुकसान पहुंचा सकती है.

क्या बोले खुर्शीद आलम ?

दरअसल खुर्शीद आलम ने उपेंद्र कुशवाहा को मानसिक रोगी बताया है. उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार से उनकी कोई तुलना ही नहीं है. नीतीश कुमार के समक्ष कुशवाहा कुछ भी नहीं है. नीतीश कुमार तो आकाश हैं. वे पारस पत्थर हैं.

मंत्री खुर्शीद आलम ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा का मानसिक संतुलन खो गया है. उन्हें किसी अच्छे डॉक्टर से इलाज कराने की जरूरत है. उनका माथा काम नहीं कर रहा है. मंत्री ने एक चैनल से बात करते हुए यह भी आरोप लगाया कि उपेंद्र कुशवाहा केवल मीडिया में बने रहने के लिए अर्नगल बयान देते रहते हैं.

About Md. Saheb Ali 3663 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*