भक्त चरण दास होंगे बिहार कांग्रेस के नये प्रभारी, शक्ति सिंह गोहिल की लेंगे जगह

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : भक्त चरण दास बिहार कांग्रेस के प्रभारी बनाए गए. शक्ति सिंह गोहिल की अपील को कांग्रेस अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया है. गोहिल की अपील को स्वीकार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने उड़ीसा के जमीनी नेता भक्त चरण दास को बिहार कांग्रेस प्रभारी नियुक्त किया है.

कालाहाड़ी (उड़ीसा) के जमीनी नेता हैं भक्त चरण दास. कभी आधुनिक उड़ीसा के निर्माता बीजू पटनायक दास में अपना उत्तराधिकार देखते थे, लेकिन वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री न केवल कांग्रेस के वफादार सिपाही हैं, बल्कि दो-दो राज्यों के प्रभारी भी हैं. कांग्रेस में जब शीर्ष नेतृत्व बदले जाने के विवाद पर पार्टी दो खेमे में बंट गयी थी उस समय भी भक्त चरण दास गांधी परिवार की हिमायत करते रहें.



भक्त चरण दास ने साफ कहा था कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को किसी पद की लालच नहीं है. ऐसे में नेतृत्व परिवर्तन की कोई गुंजाइश नहीं है. बता दें कि कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने पत्र लिखकर पार्टी की कमान गैर गांधी परिवार में से किसी को देने की सलाह दी गयी थी. पत्र खुल जाने के बाद काफी हंगामा भी हुआ था.

दरअसल सीपी जोशी की जगह बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल को बनाया गया था. 2018 में बिहार कांग्रेस के प्रभारी का कमान संभालने के बाद दो-दो चुनाव में पार्टी ने अच्छा प्रफॉर्म नहीं किया. 2019 का लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को अपेक्षानुरूप जीत हासिल नहीं हुई इसके बाद 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस करीब 53 सीट लुज कर गयी.

इन सारे कारणों से शक्ति सिंह गोहिल के नेतृत्व पर सवाल खड़े होने लगे थे. दोनों चुनाव में आशानुरूप सीटें नहीं आने पर खुद गोहिल ने जिम्मेवारी लेते हए प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया था. लेकिन उस समय उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया. इसके बाद लगातार कयास लगाए जा रहे थे.