बिहार बंद का दिखने लगा असर, RJD कार्यकर्ताओं ने आगजनी कर किया हंगामा, दरभंगा में रोकी ट्रेन

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा में मंगलवार को हुए हंगामे, विधायकों की पिटाई, बेरोजगारी, महंगाई, किसान बिल के विरुद्ध में महागठबंधन ने बिहार बंद का आह्वान किया है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने आरोप लगाया है कि बिहार में विधानसभा के इतिहास में पहली बार विधायकों को पिटवाया गया और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई के बजाय उन्हें संरक्षण दिया जा रहा है. सभी विपक्षी दलों ने बिहार बंद का ऐलान किया है.

भाकपा माले के कार्यकर्ताओं रोकी ट्रेन

महागठबंधन की तरफ से आज बुलाए गए बिहार बंद का असर सुबह से ही दिखने लगा है. बंद समर्थक सुबह से ही सड़क पर नजर आ रहे हैं. समर्थकों ने सड़क और रेल दोनों यातायात को अपने निशाने पर लिया है. वहीं मुजफ्फरपुर में RJD के बिहार बंद का व्यापक असर दिख रहा है. सैकड़ों कार्यकर्ता सुबह-सुबह सड़क पर आगजनी कर हंगामा कर रहे है. कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर जीरो माइल चौक को चारों तरफ से जाम कर दिया है. जिससे यातायात पूरी तरह से बाधित हो गया है. लोगों को आने जाने में काफी परेशानी हो रही है. उधर दरभंगा में बंद समर्थकों ने ट्रेन यातायात को बाधित किया है. भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने लहरिया सराय स्टेशन पर जानकी एक्सप्रेस को रोका है.

तेजस्वी, तेज समेत 21 के खिलाफ गंभीर मामला दर्ज

बता दें कि बीते दिनों बेरोजगारी, महंगाई व भ्रष्टाचार के खिलाफ 23 मार्च को राजद की ओर से किये प्रदर्शन, हंगामा व पथराव मामले में तेजस्वी, तेज समेत 21 के खिलाफ गैरजमानतीय धारा में हत्या के प्रयास का गंभीर मामला भी शामिल किया गया है। सरकारी कार्य में बाधा डालने, तोड़फोड़, मारपीट करने व जानलेवा हमला करने के मामले में डाकबंगला पर तैनात दानापुर की दंडाधिकारी प्रतिमा गुप्ता के बयान पर कोतवाली में जो एफआईआर दर्ज कराई गई है, उनमें हत्या के प्रयास जैसी गंभीर धाराएं भी शामिल हैं। एफआईआर में तेजस्वी समेत 22 नामजद व अन्य आरोपित बनाये गये हैं। इनमें कई वर्तमान और निर्वतमान विधायक भी शामिल हैं।