बिहार कैबिनेट : SKMCH में 62 करोड़ की लागत से बनेगा आधुनिक ICU

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : मंगलवार को बिहार कैबिनेट की बैठक सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई. बिहार कैबिनेट की बैठक में 18 एजेंडों पर मुहर लगी. बैठक में जिन एजेंडों पर मुहर लगी उसमें सबसे खास रहा मुजफ्फरपुर में आईसीयू निर्माण का फैसला. बता दें कि मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में 62 करोड़ की लागत से आईसीयू का निर्माण कराया जाएगा. यह आईसीयू 100 बेड का होगा जिसमें आधुनिक संसाधनों का समावेश होगा. साथ ही मरीज के साथ आए परिजनों के लिए धर्मशाला का भी निर्माण कराया जाएगा.

आधुनिक संसाधनों से लैश होगा आईसीयू

बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से सैंकड़ों बच्चों की मौत हो गई थी. इस मामले में बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर माना था कि अस्पताल में संसाधनों की कमी है. इसी को लेकर बिहार कैबिनेट ने एसकेएमसीएच में आधुनिक संसाधनों से लैश आईसीयू बनाने का निर्णय लिया है. चमकी बुखार से राज्य में सबसे ज्यादा बच्चों की मौतें मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में ही हुई हैं. हालांकि मौसम के बदलाव के बाद बीमारी का प्रभाव कम हो गया है. लेकिन अभी भी पूरी तरह से इसका प्रकोप खत्म नहीं हुआ है.

जागरूकता फैलाने की जरूरत

वहीं इससे पहले सीएम नीतीश कुमार ने चमकी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर विभाग के प्रधान सचिव को नसीहत दिया था. नीतीश कुमार ने विभाग के प्रधान सचिव को मामले पर ध्यान देने की नसीहत दी थी. उन्होंने कहा था कि बिहार सरकार बच्चों की मौत को लेकर चिंतित है. इससे निपटने के लिए लगातार सरकार प्रयासरत है. साथ ही सीएम ने मुख्य सचिव को भी AES पर खुद नज़र रखने का निर्देश दिया था. सीएम नीतीश कुमार ने इस मामले में चिंता जताते हुए कहा थी कि बीमारी को लेकर जागरूकता फैलाने की जरूरत है.

बता दें कि मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को फटकार लगाई थी. सुप्रीम कोर्ट ने सात दिनों में बिहार सरकार से मामले पर जवाब मांगा था. बिहार सरकार ने अपने जवाब में कहा था कि बिहार के अस्पतालों में संसाधनों की कमी है. अस्पतालों में डॉक्टरो और नर्सों की भी कमी है. बिहार सरकार ने कहा था कि इसको लेकर काम किया जा रहा है. अब बिहार कैबिनेट ने बड़ा फैसला लेते हुए मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में 62 करोड़ की लागत से 100 बेड का आईसीयू बनाने का निर्णय लिया है. यह आईसीयू आधुनिक संसाधनों से लैश होगा और साथ ही मरीज के परिजनों के लिए धर्मशाला का भी निर्माण कराया जाएगा.

राहुल गांधी से इस्तीफा वापस लेने की मांग, कार्यकर्ताओं ने दी आत्मदाह की चेतावनी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*