पटनाः NMCH में हड़ताल को मिला PMCH-DMCH के डॉक्टरों का समर्थन, OPD और इमरजेंसी ठप

BIHAR,DOCTOR STRIKE,NMCH,PATNA,एनएमसीएच,पटना, pmch

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः राजधानी पटना में स्वास्थ्य व्यवस्था ठप हो चुकी है. पटना के एनएमसीएच में डॉक्टरों की हड़ताल के समर्थन में अब पीएमसीएच और डीएमसीएच के डॉक्टर भी उतर आए हैं. तीनों ही अस्पतालों में इमजेंसी सेवा को ठप कर दिया गया है. एनएमसीएच के हालात तो ऐसे हैं कि डॉक्टरों ने रजिस्ट्रेशन काउंटर को ही बंद करवा दिया है. इधर आज 09 अगस्त को पटना के पीएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड से भी डॉक्टर लापता हैं. कुल मिलाकर मरीजों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का आश्वासन

इधर मीडिया से बातचीत में बिहार के हेल्थ मिनिस्टर मंगल पांडेय ने बताया कि, उनकी लगातार बात हो रही है. हड़ताल को जल्द ही तुड़वा दिया जाएगा. मेडिकल एक्ट प्रोटेक्शन कानून पर भी बात की गई है. वहीं हेल्थ मिनिस्टर के आश्वासन का कोई नतीजा नहीं दिख रहा है. डॉक्टर और ज्यादा उग्र हो गए हैं. 48 घंटे का अल्टिमेटम दिया गया है. नहीं तो और उग्र विरोध की बात कही गई है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल एनएमसीएच में मंगलवार की शाम एक महिला मरीज की मौत के बाद गुस्साए परिजन जूनियर डॉक्टरों से भिड़ गए और मारपीट की. आक्रोशित लोगों ने इमरजेंसी में तोड़फोड़ शुरू कर दी. अस्पताल परिसर में अफरातफरी मच गई. यह बात भी सामने आई कि डेड बॉडी ले जाने के दौरान साथ में रहे दो युवकों ने अस्पताल के बाहरी परिसर में फायरिंग भी की. लेकिन पुलिस का कहना है कि फायरिंग की बात अबतक सामने नहीं आई है.

मरीज की मौत पर हंगामा

डॉक्टरों ने जांच के बाद परिजनों से कहा कि मरीज की मौत हो गई है. इसके बाद परिजन डॉक्टर से कहासुनी व हाथापाई पर उतर आए. साथ आए लोगों ने वार्ड में कुर्सी टेबुल उलट दी. हंगामा और तोड़फोड़ शुरू कर दिया. उनके तेवर देख सुरक्षाकर्मी भी पीछे हट गए.

जूनियर डॉक्टरों का कहना था कि परिजनों ने मारपीट की है. अस्पताल परिसर के बाहरी हिस्से में युवकों ने फायरिंग की है. हंगामे की सूचना पाकर आलमगंज थानाध्यक्ष ओमप्रकाश वहां पहुंचे. उन्होंने कहा कि गोली चलने की बात जांच में अबतक सामने नहीं आई है, लिखित भी इस संबंध में नहीं दिया गया है.

About Md. Saheb Ali 5155 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*