नियोजित शिक्षकों को बिहार सरकार का बड़ा तोहफा, कैबिनेट से सेवा शर्त को मिली मंजूरी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार कैबिनेट की बैठक खत्म हो गयी. कैबिनेट की बैठक में 28 मामलों को मंजूरी दी गयी है. नियोजित शिक्षको के लिए सेवा शर्त लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है.

सेवा शर्त की मंजूरी मिलने से नियोजित शिक्षकों को काफ फायदा पहुंचेगा. नियोजन शब्द हटाने को लेकर मुख्यमंत्री ने पहले ही घोषणा कर रखी है. सेवा शर्त लागू होने के बाद बिहार के किसी भी कोने में अब नियोजित शिक्षक ट्रांसफर करा सकते है.



स्थानांतरण, प्रोमोसन के साथ कई लाभ मिलेगी. सरकार के इस फैसले से बिहार के करीब पौने चार लाख नियोजित शिक्षक को लाभ मिलेगा. साथ ही आज की कैबिनेट बैठक में शिक्षकों के वेतन में 15 प्रतिशत का इजाफा करने के भी प्रस्ताव पर मुहर लगी है. ईपीएफ की राशि सरकार अपनी ओर से जमा करेगी. प्रमोशन संयुक्त सीमित परीक्षा के के माध्यम से मिलेगा.

सेवा शर्त लागू होते ही नियोजित शिक्षकों की मौत के बाद उनके परिजनों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी दी जाएगी. बीएड और डीएलएड पास ही परिजन शिक्षक बनेंगे. साथ ही अनट्रेड परिजन को क्लर्क और फोर्थ ग्रेड की नौकरी दी जाएगी.

वहीं राज्य के खिलाड़ियों को भी नौकरी देने के प्रस्ताव पर मुहर लगी है. जिसकी घोषणा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के गांधी मैदान से की थी. 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पटना के गांधी मैदान से नीतीश कुमार ने शिक्षकों के लिए सेवा शर्त जल्द लागू करने की घोषणा की थी.