विधवा भाभी से मंजूर नहीं था रिश्ता, शादी के दो दिन बाद ही नाबालिग ने उठाया खौफनाक कदम

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार के गया में विधवा भाभी से जबरन शादी कराए जाने पर 15 साल के लड़के ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. बताया जा रहा है कि शादी की रस्मों के बाद ही लड़का लापता हो गया था. जब घरवालों ने खोजबीन की तो उसकी लाश फांसी के फंदे पर लटकी मिली. जानकारी के अनुसार, घटना गया के विनोबा नगर की है. यहां महादेव दास परैया के सरकारी स्कूल में लड़का नौवीं क्लास में पढ़ता था. कुछ माह पहले उसके बड़े भाई संतोष दास की मौत हो गई थी. घर वालों ने उसकी शादी 25 साल की उस रूबी देवी से करवा दी, जिसे वह अपनी मां की तरह मानता था.

मृतक के पिता चंद्रेशवर दास के मुताबिक, बड़े बेटे संतोष की मौत के बाद उन्हें 80 हजार रूपए मुआवजे के रूप में मिले थे. इन पैसों पर रूबी के घरवालों की नजर लगी हुई थी. वे बार-बार यह दबाव बनाते थे कि या तो पैसे दे दो या छोटे बेटे से रूबी की शादी करवा दो. हमने उन्हें 25 हजार रूपए भी दिए, लेकिन वो शादी के लिए लगातार दबाव बनाते रहे.



इसी दबाव के चलते लड़के की शादी 10 साल बड़ी भाभी रूबी से करवा दी गई. उनकी शादी में आसपास के गांव से रिश्तेदार भी शरीक हुए थे. शादी ना करने के लिए लड़का आखिर तक मना करता रहा, लेकिन उसके घर वाले नहीं मानें. अमरनाथ गुफा में अब न बजेंगी घंटियां और न ही लगेंगे शिव के जयकारे

शादी की रस्में निपटने के बाद लड़का लापता हो गया. जब उसे घर वालों ने खोजा तो लाश तौलिये से बने फंदे पर लटकी हुई मिली. इस वाकये की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आत्महत्या का मामला दर्ज किया. हालांकि, जब पूरे मामले का खुलासा हुआ तो दोबारा पुलिस ने एफआईआर दर्ज की और लड़के के परिवार समेत शादी में शरीक हुए 9 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई.