बिहार के 5 जिलों में हाईवे पर सरकार का बड़ा फैसला, पटना को होगा फायदा

लाइव सिटीज डेस्कः राज्य के पांच जिलों में छह सड़कों के जीर्णोद्धार और चौड़ीकरण के लिए ढाई सौ करोड़ रुपए सरकार ने स्वीकृत किए हैं. योजना में सड़कों के किनारे नाली का निर्माण भी शामिल है. पथ निर्माण की इन योजनाओं से पटना, नालंदा, दरभंगा, पूर्वी चंपारण और सुपौल को लाभ होगा. जल्द ही इन सड़कों के लिए टेंडर होगा. राज्य सरकार ने जिन योजनाओं को स्वीकृति दी है, उससे 153. 60 किमी सड़कों का निर्माण और चौड़ीकरण होगा.

पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने बताया कि पटना में सम्पतचक बाजार से पटना-पुनपुन रोड (नेशनल हाइवे-83) तक बदलाचक होते हुए जाने वाली सड़क का जीर्णोद्धार होगा. इस सड़क को पूरी तरह नए सिरे से बनाया जाएगा. साथ ही इसके किनारे नाली का भी निर्माण होगा. लगभग सात किमी की इस सड़क पर सरकार 36.15 करोड़ रुपए खर्च करेगी. अप्रैल से बदलने लगेगा गांधी सेतु का लुक, पटना पहुंचने वाला है पहले स्पैन का सामान



नालंदा जिले में स्टेट हाइवे-71 के राजगीर-पार्वतीपुर की 25 किलोमीटर लंबी सड़क का भी जीर्णोद्धार होगा. इसके लिए 35 करोड़ मंजूर किया गया है. इसी जिले के हिलसा प्रखंड में राज्य उच्च पथ संख्या-71 पर कोविल गेट से इस्लामपुर, खुदागंज, छबीलापुर होते हुए राजगीर तक की 40. 24 किलोमीटर लंबी सड़क की चौड़ाई बढ़ाई जाएगी. इसका जीर्णोद्धार भी किया जाएगा. इस सड़क के लिए 62 लाख रुपए की मंजूरी दी गई है.

वहीं दरभंगा जिले में भी सड़क पर काम होने को मंजूरी मिली है. दरभंगा-कमतौल-बसैठा पथ (स्टेट हाइवे-75) के विकास की स्वीकृति मिली है. इस रोड पर मिट्टी कार्य, ड्रेनेज निर्माण व सड़क विकास के लिए लगभग 40 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं. इस पथ की लम्बाई 32 किमी है.

इस योजना से पटना, नालंदा, दरभंगा, पूर्वी चंपारण व सुपौल को बड़ा फायदा मिलेगा. पटना में संपतचक से पुनपुन रोड तक की सड़क नए सिरे से बनेगी. 35 किमी लंबी मोतिहारी-तुरकौलिया रोड को भी नये सिरे से बनाया जाएगा. इस पर सरकार लगभग 33 करोड़ रुपये खर्च करेगी. वहीं सुपौल जिले में निर्मली-मधेपुर पथ पर 14 किमी की दूरी तक की सड़क की चौड़ाई बढ़ाई जाएगी. इस पर लगभग 37 करोड़ रुपये खर्च होंगे.