EXCLUSIVE : बक्सर के अफसर क्यों कर रहे हैं सुसाइड, काम का दबाव या वजह कुछ और…

डीएम मुकेश पांडेय के बाद अब ओएसडी तौकीर अकरम ने किया सुसाइड

बक्सर(शशांक सिंह) : बक्सर के लोगों के जेहन में एक बात उठने लगी है. बक्सर के अधिकारी क्यों आत्महत्या जैसे कदम को उठा रहे हैं? काम का दबाव या कुछ और वजह है. इस घटना के बाद पूरा महकमा शोक में डूबा हुआ है. कोई अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. तौकीर अकरम की 14 साल पहले शादी हुई थी. उनको कोई संतान नहीं है. घटना की रात पास में ही शादी समारोह था. जिसमें भाग लेने के लिए वहां पहुंचे थे. देर रात घर लौटने के बाद कुछ बेचैन से थे. मां से कुछ बात भी की. इसके बाद वो सोने के लिए कमरे में चले गये. सुबह उनका शव पंखे से लटका हुआ मिला.

मुख्यमंत्री ने दिये जांच के आदेश

इस घटना के बाद सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घटना की जांच करने का आदेश दे दिया है. बासा के प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार ने मुख्यमंत्री से इसकी निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है. इसके बाद यह आदेश दिया गया है. घटना अपने आप में कई सवाल खड़ा कर रही है. तौकीर अकरम की छवि एक ईमानदार अधिकारी के रूप में थी.

नम आंखों से दी गयी अंतिम विदाई

जिला प्रशासन ने पूरे राजकीय सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी. कमरे से बाहर उनके शव को निकाला गया. जहां डीएम, एसपी तथा जिले के वरीय अधिकारियों ने पुष्पांजलि अर्पित की. इस दौरान प्रेस क्लब के अध्यक्ष शशांक शेखर ने भी पुष्पांजलि अर्पित की. जिसके बाद उनके पैतृक आवास फुलवारीशरीफ शव को भेज दिया गया.

तबीयत खराब होने की बात कह पत्नी को बुलाया गया

बताया जा रहा है कि दो दिन पहले तौकीर अकरम की पत्नी फुलवारीशरीफ गयी हुई थी. घटना के बाद परिजनों ने तबीयत खराब होने की बात कह उनको बक्सर बुलाया. घटना के बाद से ही उनकी मानसिक हालत ठीक नहीं है. पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है.

ट्रांसफर कराकर जाना चाहते थे दूसरी जगह

तौकीर अकरम वीर कुंवर सिंह कॉलोनी स्थित किराये के मकान में रहते थे. जहां उनकी मां और पत्नी भी साथ रहती थी. दो दिन पहले पत्नी फुलवारीशरीफ गयी हुई थी. घटना की सूचना पाकर उनकी पत्नी भी बक्सर पहुंची. घटना के वक्त घर में उनकी मां मौजूद थी. रोते-रोते मां ने कहा कि अधिकारी ट्रांसफर करने के लिए पैसे की मांग कर रहे थे. इस घटना के बाद मां का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है. अधिकारी पूरे दिन उनके मां को ढांढस बंधाते रहे.

मोबाइल और सुसाइड के वीडियो को टीम ने किया जब्त

भूअर्जन पदाधिकारी सह डीएम के ओएसडी के मोबाइल और बनाये गये विडियो को एफएसएल की टीम ने जब्त कर लिया है. कमरे को भी पूरी तरह से सील कर दिया गया है. देर शाम पटना से एफएसएल की टीम पहुंची थी. जहां घटना के एक-एक बिंदुओं की जांच की. घटना में प्रयुक्त दुपट्टे को भी जब्त कर अपने साथ ले गयी है. ओएसडी ने फांसी लगाने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा है जिसमें उन्होंने अपनी मौत के लिये खुद को जिम्मेवार बताया है. मृतक की मां के मुताबिक तौकीर का वेतन पिछले 12 महीने से बंद था. वो इसको लेकर काफी परेशान भी रहते थे.

किसी से कोई शिकायत नहीं, हम तो चले जहां को छोड़ कर

घटनास्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. जिसमें उन्होंने लिखा है कि मेरे आत्महत्या के लिए कोई जिम्मेवार नहीं है. डीएम के ओएसडी सह भू-अर्जन पदाधिकारी तौकीर अकरम की मौत से सभी सन्न हैं. एक ईमानदार अधिकारी के इस तरह आत्महत्या जैसे कदम उठाना सिस्टम पर भी सवाल खड़ा कर देता है. इससे पहले डीएम मुकेश पांडेय की आत्महत्या मामले ने बिहार को हिला कर रख दिया था.

About Md. Saheb Ali 5154 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*