अब ट्रेनों में नहीं हो सकेगा क्राइम! पढ़िए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने क्या कहा है

piyush-goyal

लाइव सिटीज डेस्कः सफर के दौरान पैसेंजर्स की सेफ्टी और सिक्युरिटी बढ़ाने के लिए देश की सभी ट्रेनों में सीसीटीवी लगाए जाएंगे. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि रेलवे 2018 को ‘ह्यूमन ट्रैफकिंग रोकने और महिला सुरक्षा’ के तौर पर मनाएगा. सुरक्षा के लिहाज से स्टेशन कैंपस के साथ ट्रेनों में क्लोज सर्किट कैमरे (CCTV) लगेंगे और इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी. इस पर विचार किया जा रहा है. कैमरे ऑनलाइन लिंक होने के बाद स्टेशन मास्टर और अफसर इन पर नजर रखेंगे.

स्टेशनों पर 2800 एस्केलेटर लगेंगे



न्यूज एजेंसी के मुताबिक, रेल मंत्री ने बताया कि ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा के लिहाज से कई अहम फैसले लिए हैं. इनमें पूरे रेल नेटवर्क को सीसीटीवी कैमरों से जोड़ने और स्टेशनों पर 2800 से ज्यादा एस्केलेटर लगाने की योजना शामिल है. इसके लिए सप्लीमेंट्री बजट में फंड शामिल होगा. जान लें रेलवे के ये नियम, मिडिल बर्थ से नहीं होगी प्रॉब्लम, मिलेगा रिफंड पैसा भी

इसके अलावा रेलवे ने स्टेशन और फुटओवर ब्रिज को ‘सुविधा’ से हटाकर ‘सुरक्षा’ की कैटेगरी रखा है. इससे उनकी मरम्मत और रखरखाव के लिए रेलवे बोर्ड से इजाजत लेने की जरूरत नहीं होगी.पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे के सीनियर अफसरों के साथ ‘विजन फॉर न्यू रेलवे- न्यू इंडिया 2022’ को लेकर चर्चा हो रही है.

इस योजना में निर्भया फंड से रकम लेकर सीसीटीवी लगाए जाएंगे. सुरक्षा रेलवे की प्राथमिकता है और इसके लिए रेलवे स्टेशनों के साथ ट्रेनों और रेल पटरियों के किनारे भी सीसीटीवी लगाए जाएंगे. रेलवे ट्रैक के साथ इंटरनेट कनेक्टिविटी मुहैया कराकर सभी कैमरों को ऑनलाइन लिंक किया जाएगा, ताकि स्टेशन मास्टर और अफसर भी इस पर नजर रख सकें.