‘मानव श्रृंखला समाज सुधार के लिए है, कोई पॉलिटिकल प्रोग्राम नहीं’

लाइव सिटीज, पटना डेस्कः बिहार में दहेज और बाल विवाह के खिलाफ बनाई गई इस मानव श्रृंखला में सीएम नीतीश कुमार ने सिर्फ दहेज विरोधी बातें ही नहीं कहीं, बल्कि उन सभी बयानों का भी जवाब दिया जो इस कार्यक्रम को लेकर दिए जा रहे थे. सीएम नीतीश कुमार ने गांधी मैदान से उन सभी राजनीतिक बयानबाजियों पर विराम लगा दिया, जो मानव श्रृंखला को लेकर पिछले कुछ दिनों से सुर्खियां बटोर रही थीं. सीएम ने साफ-साफ शब्दों में कहा कि मानव श्रृंखला कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं बल्कि यह समाज सुधार के लिए हैं.

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा कि इस कार्यक्रम का हिस्सा जिन्हें बनना है उनका स्वागत है, लेकिन जो नहीं पहुंचे उनको लेकर कुछ नहीं कहना. बता दें कि आज रविवार 21 जनवरी को मानव श्रृंखला में शामिल होने सीएम , डिप्टी सीएम समेत बिहार सरकार के तमाम मंत्री और नेता शामिल हुए. उनके साथ-साथ हम के अध्यक्ष जीतन राम मांझी भी शामिल होने पहुंचे. लेकिन दूर-दूर तक राजद का कोई नेता नहीं दिखा. बोले सीएम नीतीश- दहेज़ प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ आगे भी जारी रहेगा अभियान

उन्होंने आगे कहा कि-बाल विवाह गैर कानूनी चीज है. यह नुकसानदेह है. 2 अक्टूबर को हमने दहेजप्रथा और बाल विवाह के खिलाफ हल्ला बोल शुरू किया. यह कुरीति संपन्न लोगों से फैलते हुए आम लोगों के बीच पहुंच गई. लेकिन अब लोगों को जागरूक होना पड़ेगा. उन्होंने बिहार की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा- कि हमें बहुत ख़ुशी है कि हर मजहब, समुदाय के लोग इस मानव श्रृंखला में शामिल हुए.

सीएम ने आगे कहा कि पिछले साल शराबबंदी पर हमने लोगों को एकजुट किया था. इस बार बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के खिलाफ हमने हल्ला बोला है. उन्होंने कहा- कि गाँव -गाँव तक एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी करेंगे.यह अभियान रुकेगा नहीं निरंतर चलता रहेगा. बता दें कि मालूम हो कि मानव श्रंखला में भाग लेने बिहार के सीएम नीतीश कुमार भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गांधी मैदान पहुंचे. उनके साथ बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी समेत कई अन्य बड़े नेता भी शामिल हुए. इस मौके पर सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया से भी बातचीत की.

About Md. Saheb Ali 2709 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*