बिहार में हड्डी छेद रहा है ठंडा, कोहरे की चादर ने रफ्तार रोक दी है राजधानी पटना की

राजधानी में ठंड का कहर

लाइव सिटीज डेस्कः बड़ा ही बुरा हाल है राजधानी पटना समेत उत्तर बिहार के जिलों का. जबरदस्त ठंड पड़ रही है. जन-जीवन अस्त व्यस्त है. बाहर निकलने में डर लग रहा है लोगों को. पछुआ हवा के साथ घने कोहरे से राजधानी पटना सहित पूरा प्रदेश ढंक गया है. राजधानी के अधिकतम तापमान में अचानक पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट से शुक्रवार कोल्ड डे रहा. अधिकांश जगहों पर शीतलहर की स्थिति से लोग घरों में दुबके रहे. और आज शनिवार को तो पूछिए मत. शुक्रवार शाम से जो कोहरा गिरना शुरू हुआ, आज भी जारी है. पटना की सड़कों पर विजिबिलिटी बहुत कम है. गाड़ियां सरक-सरक के चल रही है.

पटना की सड़कों पर फॉग चल रहा है

मौसम विभाग के अनुसार पटना में इस समय सामान्य अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए था. लेकिन 17.4 डिग्री होने के कारण इसने गलन का अहसास करा दिया. न्यूनतम तापमान 8.9 डिग्री सेल्सियस रहा. शुक्रवार को राजधानी में बीते 24 घंटे से घना कोहरा छाया रहा. सुबह कोहरे के कारण शून्य विजिबिलिटी और हवा में नमी की मात्र 93 प्रतिशत होने के कारण हाड़ कंपाने वाली ठंड से लोग घरों में दुबके रहे. सैंकड़ों यात्री फंसे थे फ्लाइट्स के भीतर, रिस्‍क लेकर पटना में हो रही है विमानों की लैंडिंग



  • गया का न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री और अधिकतम 22.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.
  • भागलपुर का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री और अधिकतम 20.6 डिग्री सेल्सियस रहा.
  • पूर्णिया का न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री और अधिकतम 24.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

आज भी कनकनी का कहर

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक शुभेंदू सेन गुप्ता के अनुसार शनिवार और रविवार को धूप निकलने की संभावना नहीं है. कोहरे से पूरा प्रदेश प्रभावित रहेगा. सुबह में कोहरे के कारण धूप देर से निकल सकती है. चार जनवरी तक पूरा सूबा ठंड की चपेट में रहेगा.

आग तापते पटना के लोग

चौंका रहा मौसम में बदलाव

  • इस वर्ष दिसंबर में पहली बार अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया गया.
  • पिछले सात वर्षो में 2014 और 2012 में 29 दिसंबर को की स्थिति थी.
  • 2012 में न्यूनतम तापमान 07 डिग्री और अधिकतम 19 डिग्री सेल्सियस था.
  • 2014 में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री और अधिकतम 16 डिग्री सेल्सियस पहुंचा था.
घरों ने निकलना मुश्किल है

विजिबिलिटी शून्य, जनजीवन प्रभावित

शुक्रवार को कोहरे के कारण राजधानी और आसपास के इलाके में जनजीवन प्रभावित रहा. सुबह से घने कोहरे की चादर ओढ़े शहर में शून्य विजिबिलिटी रही. हवा में 97 प्रतिशत नमी के कारण देर तक लोग घरों में दुबके रहे. कक्षा दो के बच्चों को स्कूल जाने में कोहरा बाधक बना हुआ था. दोपहर बाद कोहरा कम हुआ लेकिन धूप नहीं निकली. कुछ जगहों पर सूर्य के क्षणिक दर्शन हुए. मौसम वैज्ञानिक के अनुसार शनिवार को भी घना कोहरा छाए रहने का अनुमान है. आज सुबह से ही ठंड अहसास कराने लगी है. कनकनी भी परेशान कर रही है.

Patna Airport पर भी Fog चल रहा है, सुबह से नहीं उतरी Flight, जमीन पर बैठे हैं बच्चे-बुजुर्ग