तस्वीरों मेंः कांप रहा है बिहार, एक सफर मुंगेर To पटना भाया लखीसराय

-राजेश ठाकुर-

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार में ठंड का कहर लगातार जारी है. इस बार अचानक पड़ी ठंड हड्डी भेदने वाली है. कोहरा का कोहराम साफ-साफ देखने को मिल रहा है पूरे बिहार में. बात करें राजधानी पटना की या फिर गया, भागलपुर या फिर पूर्णिया की. तमाम बड़े जिले कोहरे की चादर में समा गए हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अब तक दो लोगों की मौत भी हो चुकी है ठंड से. वहीं मौसम विभाग भी डरा रहा है. मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो अब बिहार में सर्दी का सितम जारी रहेगा. लाइव सिटीज के संवाददाता राजेश ठाकुर ने इसी ठंड को आपके सामने रखने का एक प्रयास किया है. तस्वीरों के माध्यम से. तो लाइव सिटीज के कैमरे से ली गई कुछ ठिठुरती तस्वीरें देखिए –



सफर की शुरुआत मुंगेर स्टेशन से
रेलवे स्टेशनों पर ठिठुरते लोग
बख्तियारपुर में ठंड का कहर
कोहरे में समा गया है प्लेटफॉर्म
जहां देखिए कोहरा ही कोहरा है
कोहरे ने रेलवे पटरियों को भी ढक लिया है
स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर किकुरे लोग
कुछ नहीं दिखता कोहरे में
ठंड से जन जीवन अस्त व्यस्त
बोझा-झोला लेकर राह तक रहे हैं लोग

ट्रेन के पार होने का हो रहा है इंतेजार
क्या जवान, क्या बुजुर्ग अब तो बच्चे भी हैं हलकान
केंद्रीय मंत्री ने ढूंढ लिया ठंड का इलाज

मौसम विभाग के अनुसार पटना में इस समय सामान्य अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए था. लेकिन 17.4 डिग्री होने के कारण इसने गलन का अहसास करा दिया. न्यूनतम तापमान 8.9 डिग्री सेल्सियस रहा. शुक्रवार को राजधानी में बीते 24 घंटे से घना कोहरा छाया रहा. सुबह कोहरे के कारण शून्य विजिबिलिटी और हवा में नमी की मात्र 93 प्रतिशत होने के कारण हाड़ कंपाने वाली ठंड से लोग घरों में दुबके रहे. सैंकड़ों यात्री फंसे थे फ्लाइट्स के भीतर, रिस्‍क लेकर पटना में हो रही है विमानों की लैंडिंग

  • गया का न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री और अधिकतम 22.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.
  • भागलपुर का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री और अधिकतम 20.6 डिग्री सेल्सियस रहा.
  • पूर्णिया का न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री और अधिकतम 24.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

आज भी कनकनी का कहर

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक शुभेंदू सेन गुप्ता के अनुसार शनिवार और रविवार को धूप निकलने की संभावना नहीं है. कोहरे से पूरा प्रदेश प्रभावित रहेगा. सुबह में कोहरे के कारण धूप देर से निकल सकती है. चार जनवरी तक पूरा सूबा ठंड की चपेट में रहेगा.