Update : मधेपुरा में डॉक्टरों ने की हड़ताल, बढ़ गई मरीजों की परेशानी

लाइव सिटीज डेस्क : मधेपुरा से बड़ी खबर आ रही है. यहां सदर अस्पताल के डॉक्टरों ने हड़ताल कर दी है. डॉक्टरों के हड़ताल से वहां सभी कामकाज ठप्प हो गया है. जिससे मरीजों की परेशानी बढ़ गई है. बता दें कि मधेपुरा में कल शनिवार रात से जो बवाल शुरू हुआ है आज रविवार को भी जारी रहा. सुबह गुस्साए छात्रों ने सदर अस्पताल के डॉक्टरों को जमकर धोया है. अस्पताल से बाहर निकाल कर पिटाई की गई है डॉक्टरों की. इतना ही नहीं छात्रों ने सदर अस्पताल में भी जमकर उत्पात मचाया है. मिल रही जानकारी के मुताबिक अस्पताल में जमकर तोड़-फोट की गई है. दरअसल ये पूरा विवाद एक इंजीनियरिंग के छात्र से जुड़ा हुआ है.

मामले की शुरूआत होती है इंजीनियरिंग के फर्स्ट ईयर में पढ़ने वाले एक छात्र की तबियत बिगड़ने से. शनिवार की देर रात एक छात्र की तबियत खराब हो जाने के बाद उसे मधेपुरा सदर अस्पताल लाया गया. जहां इलाज के दौरान छात्र की मौत हो गई. फिर क्या था, साथ आए छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया. कॉलेज में पढ़ने वाले साथियों ने चिकित्‍सकों पर लापरवाही का अरोप लगा जमकर हंगामा किया.

अंदरखाने से खबर कुछ ऐसी है कि डॉक्टरों ने छात्र को एक्सपायरी दवा दे दी जिससे उसकी मौत हो गई. हालांकि इस एक्सपायरी दवा देने की बात की पुष्टि लाइव सिटीज नहीं कर रहा है. ऐसी खबरें हैं. वहीं जब सदर अस्पताल के डॉक्टरों से मामले के बारे में जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि, छात्र की मौत खून की कमी से हुई है. इलाज में लापरवाही जैसा कोई मामला नहीं है.

छात्रों ने डॉक्टरों को अस्पताल से निकालकर पीटा, मधेपुरा की सड़कों पर हो रहा है बवाल

हंगामा कर रहे छात्रों का साफ कहना है कि मधुबनी के रहने वाले इंजीनियरिंग के छात्र सत्यजीत की मौत अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से हुई है. अगर सही से इलाज किया जाता तो उसकी मौत नहीं होती. छात्रों की माने तो तबियत खराब होने पर तीन दिनों पहले सत्‍यजीत को अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया था. इलाज के दौरान चिकित्‍सकों की लापरवाही की वजह से उसकी मौत हुई है. फिलहाल मधेपुरा के हालात ठीक नहीं हैं. इलाके में तनाव बना हुआ है.

About Razia Ansari 1701 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*