राजधानी एक्सप्रेस में घूम रहे हैं पियक्कड़ TTE, गाली-गलौज के साथ करते हैं छेड़खानी भी

लाइव सिटीज डेस्कः कभी गंदा खाना मिलता है. कभा यात्रियों से धक्का-मुक्की होती है. कभी छेड़खानी तो कभी मारा-मारी. अब तो राजधानी एक्सप्रेस में पियक्कड़ टीटीई भी चलने लगे हैं. जी हां…हकीकत है यह. मुगलसराय-पटना रेलखंड पर बुधवार देर रात डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस में ऑनड्यूटी टीटीई राजीव सिंह ने शराब पीकर उत्पात मचाया. मुगलसराय से ट्रेन खुलने के बाद ही टीटीई ने पहले तो यात्रियों से बदसलूकी की, जब विरोध किया तो गाली-गलौज करने लगा. भयभीत यात्रियों ने इसकी शिकायत ट्रेन सुपरिंटेंडेंट से की.

सुपरिंटेंडेंट के कहने के बावजूद वह शांत नहीं हुआ. यात्रियों ने रेल अफसरों को फोन करना शुरू किया. इधर, टीटीई का उत्पात बढ़ता ही जा रहा था. वह बार-बार चेन पुलिंग कर ट्रेन रोकने लगा. दानापुर में जीआरपी ने जब उसे गिरफ्तार किया और तब यात्रियों ने राहत की सांस ली. टीटीई हरियाणा के सोनीपत का है. हाय रे राजधानी एक्सप्रेस, कच्चा चिकेन और सड़े अंडे के बाद अब लोहा दे दिया समोसा में



टीटीई ने मुगलसराय से दानापुर के बीच एक दर्जन बार ट्रेन को चेन पुलिंग कर रोका. गार्ड के मना करने पर उससे भी बदसलूकी और देख लेने की धमकी दी. तीन घंटे तक यह नाटकीय घटनाक्रम चलता रहा. इस बीच गार्ड यूएस चौधरी ने इसकी सूचना दानापुर कंट्रोल को दी. ट्रेन के तड़के 4.08 बजे दानापुर पहुंचने तक टीटीई नशे में धुत था.

दिल्ली से गुवाहाटी जा रही ट्रेन का दानापुर में स्टॉपेज नहीं है. बढ़ते हंगामे को देखते हुए ट्रेन का इमरजेंसी स्टॉपेज दानापुर में दिया गया. जीआरपी ने जब टीटीई को पकड़ा तो वह उलझ पड़ा. हंगामे के बीच राजधानी एक्सप्रेस 20 मिनट तक दानापुर में रुकी रही. गार्ड ने जीआरपी थाने में एफआईआर कराई. इसके बाद उसे मेडिकल के लिए भेजा गया. 20 मिनट बाद ट्रेन पाटलिपुत्र जंक्शन के लिए खुली.

टीटीई ने डॉक्टर के साथ भी की मारपीट. दानापुर अनुमंडलीय अस्पताल में भी आरोपित टीटीई ने मेडिकल चेकअप के दौरान जमकर नौटंकी की और डॉक्टर के साथ मारपीट और गाली-गलौज करने लगा. जवानों के बल प्रयोग के बाद ही वह शांत हुआ.