बदल गया इस जरूरी परीक्षा का पैटर्न, वेबसाइट पर अभी देखें नोटिफिकेशन नहीं तो पड़ेगा महंगा

लाइव सिटीज डेस्कः नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन (एनटीएसई) के परीक्षा पैटर्न में बदलाव कर दिया गया है. यह बदलाव नए सत्र से प्रभावी हो जाएगा. बदलाव दूसरे चरण की परीक्षा में की गयी है. बदले हुए पैटर्न के आधार पर 13 मई 2018 को परीक्षा होगी. इसकी अधिसूचना एनसीईआरटी ने जारी कर दी है. पैटर्न में बदलाव की पूरी जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है. द्वितीय चरण की परीक्षा में अब सिर्फ दो पेपर ही पूछे जाएंगे. भाषा का पेपर अब नहीं पूछा जाएगा. भाषा पेपर में पूछे जाने वाले 50 प्रश्नों के जगह मेंटल एबलिटी में 50 प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई है.

पेपर टू में स्कॉलेस्टिक एप्टीट्यूड टेस्ट के 100 प्रश्न पूछे जाएंगे. जिसमें विज्ञान के 40 प्रश्न, गणित के 20 प्रश्न व सामाजिक विज्ञान के 40 प्रश्न होंगे. हर प्रश्न 1 अंक का होगा. छात्रों को पेपर टू के लिए दो घंटे का समय दिया जाएगा. दोनों पेपर में अब कोई निगेटिव मार्किंग नहीं होगी. इस परीक्षा में बिहार से 70 से 80 हजार छात्र आवेदन करते हैं. यह प्रतियोगिता राष्ट्रीय स्तर पर होती है. अप्रैल से बदलने लगेगा गांधी सेतु का लुक, पटना पहुंचने वाला है पहले स्पैन का सामान



वहीं पेपर वन में अब बदलाव के अनुसार मानसिक क्षमता (मेनटल एबलिटी) में 50 की जगह पर 100 प्रश्न पूछे जाएंगे. प्रत्येक प्रश्नों के लिए एक-एक अंक निर्धारित किया गया है. छात्रों को पेपर वन को सॉल्व करने के लिए दो घंटे का समय दिया जाएगा.

विशेषज्ञ आनंद कुमार जायसवाल ने बताया कि भाषा का पेपर नहीं हटाया जाना चाहिए था. बेहतर प्रतिभाओं को खोजने के लिए भाषा पेपर रहना चाहिए. किसी भी प्रतिभा को जांचने में सशक्त मध्यम भाषा है. वैसे भी भाषा पेपर में मार्क्‍स नहीं जोड़ा जाता था, यह सिर्फ क्वालिफाइंग होता था. प्रतियोगिता परीक्षा में निगेटिव मार्किंग नहीं हटाया जाना चाहिए. वैसे छात्र-छात्रएं जिसे प्रश्न की जानकारी नहीं है, वह तुक्का मारेंगे.