फर्जी टीटीई ट्रेन में वसूल रहा था पैसे, नहीं दिए तो यात्री को बाहर फेंका

लाइव सिटीज डेस्कः इंडियन रेलवे लगातार बदनाम होता जा रहा है. हर रोज कोई न कोई ऐसी घटना हो जाती है जिससे यात्रियों की सुरक्षा पर ही सवाल खड़े हो जाते हैं. इस बार मामला सीतामढ़ी-रक्सौल स्टेशन के बीच सामने आया. जहां  पैसेंजर ट्रेन से सोमवार की रात करीब 10 बजे एक फर्जी टीटीई ने पैसा नहीं देने पर एक यात्री को चलती ट्रेन से फेंक दिया.शिक्षकों के लिए निकली है 1011 पदों पर वैकेंसी, 30 दिसंबर आवेदन की आखिरी तारीख

यह घटना सीतामढ़ी स्टेशन के समीप बसवारिया रेलवे गुमटी के पास की बताई जा रही है. घटना के बाद से आक्रोशित यात्रियों ने ही फर्जी टीटीई को पकड़ कर मेहसौल ओपी पुलिस को सौंप दिया. उसकी पहचान अभी नहीं की जा सकी है. पुलिस की पूछताछ में उसने अपना नाम पता सही नहीं बताया है. वैसे वह अपना घर पूर्वी चम्पारण बता रहा है.



यात्रियों का आरोप है कि पैसेंजर ट्रेन में वह टीटीई की वर्दी पहन कर टिकट की चेकिंग कर रहा था. जो यात्री टिकट नहीं होने की बात कहते थे, उनसे वह पैसा मांगता था. इसी दौरान एक यात्री ने पैसा नहीं होने की बात कही. इस पर फर्जी टीटीई ने बहस करते हुए उसको ट्रेन से फेंक दिया.

इस घटना के बाद यात्रियों ने उसको पकड़ लिया और ट्रेन को आउटर पर ही रोक दिया. हंगामा सुनकर बगल की मेहसौल ओपी की पुलिस मौके पर पहुंच गई. फिर यात्रियों ने इस घटना की सूचना जीआरपी को दी. इसके बाद से जीआरपी और मेहसौल ओपी की पुलिस ट्रेन से फेंके गए यात्री की तलाश ट्रैक के आसपास शुरू कर दी है.  मेहसौल ओपी के पुलिस अधिकारी उपेन्द्र कुमार ने बताया कि फर्जी टीटीई को हिरासत में रखा गया है. फेंके गए यात्री की तलाश गुमटी के पास रेलवे लाइन के किनारे की जा रही है.