Video : सुशील मोदी के बेटे की हो गई शादी, उत्कर्ष ने यामिनी को पहनाया जयमाल

जयमाल करते उत्कर्ष और यामिनी

लाइव सिटीज डेस्कः आखिरकार आज रविवार को इंतजार खत्म हुआ. डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के बेटे उत्कर्ष मोदी ने ने यामिनी को जयमाल पहनाकर अपना बना लिया. इस रस्म के साथ ही दोनों सात जन्मों के लिए एक दूजे के हो गए. इस दौरान वहीं पहुंचे सभी राजनीतिक दिग्गजों ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया. इसके साथ ही उन दोनों के उज्वल भविष्य की कामना की. सभी ने मंच पर आकर वर-वधू से मुलाकात की और मुबारकबाद दिया. देखें वीडियो

बता दें कि शादी समारोह में राजनीतिक दिग्गजों के पहुंचने का सिलसिला अभी भी जारी है. दिग्गजों में सीएम नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, हरियाणा सीएम मनोहर लाल खट्टर, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, एक्स सीएम जगन्नाथ मिश्रा, बिहार सरकार के मंत्री नंद किशोर यादव के साथ-साथ कई दिग्गज पहुंच चुके हैं. इसी बीच बिहार में सुमो के सबसे बड़े विरोधी राजद चीफ लालू प्रसाद भी शादी में शामिल हुए हैं. उनके साथ-साथ एक हेल्थ मिनिस्टर और लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव भी पहुंचे हुए हैं.

उत्कर्ष की शादी की रस्म
उत्कर्ष की शादी की रस्म
उत्कर्ष की शादी की रस्म
उत्कर्ष की शादी की रस्म

इसके साथ ही शादी समारोह में भाग लेने वाले गणमान्य अतिथियों में बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी, गोवा की श्रीमती मृदुला सिन्हा और मेघालय के गंगा प्रसाद, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा, रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनन्त कुमार, पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री हर्ष वर्धन, वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला, सूक्ष्म लघु व मध्यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह, खाद्य व प्रसंस्करण राज्यमंत्री साध्वी निरंजना ज्योति, और  ग्रामीण विकास राज्यमंत्री राम कृपाल यादव हैं.

 

उत्कर्ष मोदी की शादी में पहुंचे राजनीतिक गेस्ट
उत्कर्ष मोदी की शादी में पहुंचे राजनीतिक गेस्ट

बता दें कि सुमो ने बेटे की शादी के लिए कोई कार्ड नहीं छपाया गया था. ई-कार्ड से निमंत्रण भेजा गया था. पहले से ही घोषणा कर दी गई थी कि यह दहेज रहित शादी है. अतिथियों को किसी भी तरह का गिफ्ट लाने की मनाही की गई है. आमंत्रित अतिथि दधीचि देहदान समिति और मां वैष्णव देवी सेवा समिति के स्टॉल पर चक्षुदान, अंगदान तथा बाल विवाह निषेध व दहेज रहित शादी का संकल्पपत्र भर सकेंगे. सभी गेस्ट्स को 4-4 लड्डू दिए गए.

उत्कर्ष ने यामिनी को किया सिंदूरदान, देखें वीडियो… 

About Md. Saheb Ali 4454 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*