शहीद ज्योति प्रकाश का शव पहुंचा बिहटा एयरपोर्ट, रोहतास भेजे जाने की तैयारी शुरू

लाइव सिटीज डेस्कः जम्मू-कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में शहीद बिहार के रोहतास जिले के ज्योति प्रकाश निराला का पार्थिव शरीर सोमवार की सुबह बिहटा एयरफोर्स केंद्र पहुंचा. यहां वायुसेना और सेना के अधिकारियों और जवानों ने पूरे सम्मान के साथ सलामी दी. उसके बाद ज्योति प्रकाश निराला के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव रोहतास जिले के काराकाट थाना क्षेत्र के बादिलडीह गांव के लिए भेजा जा रहा है.

बता दें कि ज्योति प्रकाश निराला रोहतास जिला के काराकाट थाना के बाद बादिलडीह गांव के रहने वाले थे. कश्मीर के बांदीपुरा में आतंकी मुठभेड़ में ज्योति प्रकाश शहीद हो गए थे. ज्योति प्रकाश 2005 में वायुसेना में भर्ती हुए थे वह गरुड़ कमांडो थे. शहीद प्रकाश अपने पीछे पत्नी और 4 साल की बेटी जिज्ञासा के अलावे माता पिता और चार बहनें छोड़ गए हैं.

ज्योति प्रकाश के एक बहन की शादी हो चुकी है और अभी तीन बहनों की शादी होनी है.ज्योति प्रकाश की शादी  2010 में औरंगाबाद के बारून में हुई थी. जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा में पांच आतंकियों को ढेर करने के बाद शहीद हुए ज्योति प्रकाश निराला के शव का उनके पैतृक गांव में बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है. गांव के लोग अपने बेटे के अंतिम दर्शन के इंतजार में गमगीन दरवाजे पर आस लगाए बैठे हुए हैं.

ज्योति ने साल 2005 में इंडियन एयर फोर्स ज्वाइन किया था. पांच साल के बाद साल 2010 में उनकी शादी सुषमा से हुई थी. जानकारी के मुताबिक, ज्योति 20 दिन पहले अपने गांव से ड्यूटी के लिए गए थे. इस दौरान वे पिता से वादा करके गए थे कि इस बार लौटने पर बहनों की शादी की जाएगी.

ज्योति के पिता ने अपने शहीद बेटे के लिए परमवीर चक्र की मांग की है. साथ ही तीन साल की बेटी की पढ़ाई और गांव में ज्योति के नाम पर एक प्लस टू स्कूल खोलने की मांग के साथ उन्होंने एक शहीद द्वार बनाने की मांग भी डीएम से रखी है.

About Md. Saheb Ali 5222 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*