नए मुख्य चुनाव आयुक्त होंगे ओम प्रकाश रावत, जानिए इनके बारे में बड़ी बातें…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः चुनाव आयुक्त ओम प्रकाश रावत देश के नए मुख्य चुनाव आयुक्त होंगे. वह एके जोति का स्थान लेंगे जो सोमवार को रिटायर हो रहे हैं. कानून मंत्रालय ने बताया कि सरकार ने पूर्व वित्त सचिव अशोक लवासा को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया है. आयोग में चुनाव आयुक्त की नियुक्ति की गई है, क्योंकि सोमवार को जोति के सेवानिवृत्त होने के बाद तीन सदस्यीय आयोग में एक पद खाली हो जाएगा. एक अन्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा हैं.

ओपी रावत(फाइल फोटो)

मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार रावत 23 जनवरी को मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में कामकाज संभालेंगे. उनका कार्यकाल इस साल दिसंबर में समाप्त होगा और तब मुख्य चुनाव आयुक्त के बाद सबसे वरिष्ठ आयुक्त अरोड़ा परंपरा के अनुसार चुनाव आयोग के प्रमुख हो सकते हैं. अहंकारी हैं PM नरेंद्र मोदी, करेंगे ऐसा आंदोलन जो पहले कभी नहीं देखा होगा

अरोड़ा अप्रैल 2021 में सेवानिवृत्त होंगे और वही मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में 2019 के लोकसभा चुनावों को देख सकते हैं. चुनाव आयुक्त या मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यकाल छह साल का होता है. लेकिन यदि वे उससे पहले 65 वर्ष के हो जाते हैं तो सेवानिवृत्त हो जाते हैं.

एके जोति ने नसीम जैदी के रिटायर होने पर बीते साल जुलाई में पदभार संभाला था. मुख्य चुनाव आयुक्त एके जोति ने 6 जुलाई 2017 को पदभार ग्रहण किया था. ओम प्रकाश रावत 1977 बैच के मध्‍य प्रदेश कैडर के आईएएस हैं. ओपी रावत को अगस्‍त 2015 में चुनाव आयोग में नियुक्‍त किया गया था. 1986 से 1988 तक इंदौर के कलेक्टर रह चुके हैं ओपी रावत.

रावत के चुनाव आयुक्‍त के कार्यकाल में बिहार, तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम, उत्‍तराखंड, पंजाब, मणिपुर,गोवा, उत्‍तर,गुजरात और हिमाचल प्रदेश आदि राज्‍यों के चुनाव हुए हैं. केजरीवाल सरकार को हिला दिया 30 साल के इस वकील ने, एक किताब ने भर दिया था जोश

About Md. Saheb Ali 2566 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*