बिहार बंद ने ले ली महिला मरीज की जान, एंबुलेंस पासिंग के लिए गिड़गिड़ाते रहे परिजन

लाइव सिटीज डेस्कः राजद के बिहार बंद ने एक महिला मरीज की जान ले ली है. ऐसी खबरें आ रही है कि बंद के दौरान एंबुलेंस में ही उसकी मौत हो गई. दरअसल बिहार में बालू को लेकर राजद का बंद अब जानलेवा साबित होने लगा है. पटना से सटे हाजीपुर में उस समय मानवता शर्माती नजर आयी जब सरकार की बालू नीति के विरोध में राजद के राज्यव्यापी बंद ने महिला मरीज की जान ले ली. बताया जा रहा है कि शायद अगर महिला वक्त पर अस्पताल पहुंच जाती तो उसकी जान बच सकती थी.

महनार की रहने वाली महिला सोमारी देवी को उसके परिजन गम्भीर हालत में पटना ले जा रहे थे, लेकिन राजद के बंद के कारण एम्बुलेंस जाम में ही फंस गया. जाम के कारण महिला मरीज की गांधी सेतु के टोल प्लाजा के पास पहुंचते-पहुंचते एम्बुलेंस में ही मौत हो गई. बिहार बंदः तेजस्वी-तेज प्रताप गिरफ्तार, लाव-लश्कर के साथ सड़क पर उतरे थे



मरीज की मौत होते ही परिजनों में कोहराम मच गया. परिजनों का कहना कि वो बंद समर्थकों से गुहार लगाता रहा लेकिन उसे किसी ने नहीं जाने दिया. पीड़ित परिवाक ने पुलिस से भी गुहार लगाई गई लेकिन पुलिस ने भी कोई मदद नहीं की. हाजीपुर के अलावा आरा में भी बंद समर्थकों द्वार एम्बुलेंस को जाम में रोके रखने की खबर है.

बता दें कि आज गुरुवार को सुबह-सुबह कई जिलों से बंद की खबरें आनी शुरु हो गई है. शेखपुरा में राजद कार्यकर्ताओ ने किऊल-गया पैसेंजर ट्रेन को घंटों रोके रखा. दूसरी तरफ सड़क यातायात को भी प्रभावित किया गया. प्रदर्शनकारी राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं. राजद कार्यकर्ताओ ने पटना गया रेलखंड पर जहानाबाद स्टेशन के समीप ट्रैक पर आगजनी कर जनशताब्दी ट्रेन को रोकने के साथ साथ एनएच को भी जाम कर दिया है.