हाईकोर्ट ने BPSC से मांगा है जवाब, जानिए – परीक्षा से जुड़ी इस सुनवाई में अदालत ने क्या कहा 

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी ) द्वारा संचालित 60र्वी, 61वीं एवं 62वीं आरंभिक परीक्षा में गड़बड़ी पर पटना हाईकोर्ट ने आयोग को तलब किया है. न्यायाधीश ज्योति सरन की पीठ ने अमित कुमार सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए बीपीएससी को याचिका में लगाये गये आरोपों का जवाब देने को कहा है. याचिका में बताया गया कि पीटी की परीक्षा में करीब 10 प्रश्न गलत छापे गये थे.

याचिका में यह भी बताया गया है कि कुछ प्रश्नों के चार की जगह पांच विकल्प दिये गये थे. महिलाओं को 35 फीसद आरक्षण दिया गया. इसमें राज्य के बाहर की अभ्यर्थियों को भी शामिल कर लिया गया. पीटी की 12 फरवरी को परीक्षा हुई थी. जिसका रिजल्ट सितंबर मे आया इसमें निर्धारित औसत से ज्यादा अभ्यर्थियों को सफल कराया गया. इन सब गड़बड़ियों के चलते इस परीक्षा को रद करते हुए नये सिरे से परीक्षा लेने की मांग की गई है. BPSC मस्त, कैंडिडेट पस्त, PT का फॉर्म भरने में छूट रहे पसीने



बता दें कि इधर पटना हाईकोर्ट ने बीपीएससी से जवाब तलब किया है उधर अप्लाई करने वाले स्टूडेंट्स का हाल बुरा हो रहा है. BPSC 63वीं PT परीक्षा के लिए फॉर्म भरना छात्रों के लिए सिर का दर्द बना हुआ है. डेट बढ़ाये जाने के बावजूद भी फॉर्म भरने की तकनीकी समस्या खत्म नहीं हुई है.

बीपीएससी द्वारा एक मात्र हेल्पलाइन नंबर होने की वजह से किसी को भी कुछ भी सही सलाह नहीं मिल पा रही है. घंटों फोन बिजी जाने के बाद रिंग होने पर भी कोई फोन रिसीव करने वाला तक नहीं है. अधिकारी से बात किये जाने पर वे पल्ला झाड़ कर निकलने की कोशिश कर रहे हैं. उनका कहना है कि हमलोग कोई मदद नहीं कर सकते.