दिल्ली में बाबा वीरेंद्र दीक्षित के आश्रम पर छापा, प्रसाद में नशीला पदार्थ मिलाकर करता था रेप

लाइव सिटीज डेस्कः राम रहीम और आसाराम के बाद एक और ढोंगी बाबा का भंडाफोड़ हुआ है. बाबा बनकर नाबालिग बच्चियों का यौन उत्पीड़न करने वाले इस शख्स का नाम वीरेंद्र दीक्षित है. जो दिल्ली के विजय विहार में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय आश्रम चलाता है. बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम पर दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर गठित स्पेशल टीम ने छापा मारा. इस छापेमारी के दौरान आश्रम से जुड़े दो लोगों को हिरासत में लिया गया है. साथ ही कई सामान जब्त किए गए हैं. आसाराम, राम रहीम के बाद अब ‘फलाहारी बाबा’ पर रेप का केस

इस मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है, जिसमें स्पेशल टीम आश्रम में की गई रेड पर कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगी. दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश पर पहुंची इस टीम में दिल्ली महिला आयोग की अध्य्क्ष स्वाति मालीवाल भी मौजूद थी. दिल्ली महिला आयोग के साथ जब हाईकोर्ट की स्पेशल टीम भी देर रात ढोंगी बाबा के डेरे पर पहुंची तो काफी देर तक उन्हें आश्रम के अंदर जाने की मशक्कत करनी पड़ी. काफी देर तक जब आश्रम का दरवाज़ा खटखटाया गया तब जाकर आश्रम का गेट खुला.



दिल्ली में आश्रम पर छापेमारी की तस्वीर

इस रेड का मकसद आश्रम पर लगने वाले आरोपों की सचाई पता करना है. आरोप है कि वीरेंद्र देव दीक्षित के इन आश्रम महिलाओं को जबरन कैद किया जाता है. आध्यात्मिक विश्वविद्यालय से जुड़े लोगों का दावा है कि यहां महिलाओं के साथ वीरेंद्र रेप जैसा घिनोना खेल खेलता था.
छापेमारी के दौरान टीम ने आश्रम से जुड़े दो लोगों को हिरासत में लिया है.

दिल्ली में आश्रम पर छापेमारी की तस्वीर

हिरासत में ली गई महिला खुद को वीरेंद्र देव दीक्षित का अनुयायी बता रही है. जबकि दूसरा शख्स आश्रम का चौकीदार है. इस कार्रवाई के दौरान कुछ पीड़ित परिवार भी मौके पर ही मौजूद थे. उन्होंने बताया कि आखिर किस तरह बाबा बहलाकर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है. हिरासत में लिए गए लोगों ने पूछताछ के बाद आश्रम में चल रहे काले करतूतों पर कुछ और खुलासा होने की उम्मीद है. जिसकी रिपोर्ट आज हाईकोर्ट में सौंपी जाएगी.

आध्यात्म के नाम पर अय्याशी करने वाला बाबा अपनी काली करतूतें सामने आऩे के बाद से ही सामने नहीं आया है. हाईकोर्ट की दखल के बाद अब इसकी सारी काली करतूतें सामने आने की उम्मीद है.