जदयू कार्यकर्ता सम्मेलन में चले लप्पड़-थप्पड़, कॉलर पकड़कर मारे लात-घूंसे

आपस में भिड़े जदयू के नेता

मुंगेर, सुनील जख्मीः जदयू कार्यकर्ता सम्मेलन में जमकर हंगामा हुआ है. ले झापड़- दे झापड़, के साथ-साथ भद्दी-भद्दी गालियों के साथ सदर प्रखंड में जदयू कार्यकर्ता सम्मेलन में महिला जिलाध्यक्ष जदयू रीता कुमारी, प्रखण्ड अध्यक्ष सुरेश सिंह भिड़ गए. मंच नहीं मिला तो कॉलर पकड़ कर धो डाला. भरी सभा में जमकर लात घूसे चले हैं.

बेकाबू हुई भीड़

बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से लप्पड़-थप्पड़ व अपशब्दों की बौछार हुई है. झगड़े में महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्य्क्ष कंचन गुप्ता घायल हो गई हैं. दरअसल नौवागढ़ी में प्रखण्ड स्तरीय एक दिवसीय जदयू कार्यकर्ता सम्मेलन चल रहा था. मंच पर कुर्सियां कम थीं. रीता कुमारी को जगह नहीं मिली. मंच पर बैठने को लेकर प्रखण्ड अध्यक्ष और अन्य में बहश होने लगी. धीरे धीरे तूतू-मैंमैं के साथ हाथापाई और मारपीट शरू हो गयी.



मारने के लिए पकड़ लिया कॉलर

फिर क्या था कॉलर पकड़ कर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के सामने जदयू के सिपाही पार्टी के अनुसाशन को तार-तार कर दिया. बीच बचाव करने आई जदयु महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष कंचन गुप्ता को कान में चोट लगने से खून बहने लगा. मौके पर जिला अध्यक्ष संतोष साहनी तथा दर्जनों वरिष्ठ नेता मौजूद थे. लेकिन किसी के बचाव करने का फर्क नहीं पड़ा.

खूब हुई बहसबाजी

इस संबंध में महिला प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष रीता कुमारी ने कहा पहले प्रखण्ड अध्यक्ष सदर सुरेश ने हाथ चलाया. भद्दी भद्दी गाली दी. सभी लोग गवाह हैं. सीएम नीतीश कुमार महिला की सम्मान की बात करते हैं, वहीं कुछ लोग इसे खराब कर रहे हैं.

चलाई गई कुर्सियां भी

उधर सुरेश सिंह ने कहा कि पहले रीता कुमारी ने मेरा कॉलर पकड़कर लप्पड़ थप्पड़ किया. मैंने महिला का सम्मान किया. उन्होंने सबके बीच मुझे गाली दी. कई बार उन्होंने हंगामा किया. उसके सभी आरोप निराधार है. इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष जदयु महिला प्रकोष्ठ कंचन गुप्ता ने कहा कि जो भी हुआ वो गलत है. अनुसाशन समिति के पास बातें रखी जायेंगी. महिला के साथ ऐसा बरताव गलत है.