बक्‍सर : जहां बरसे थे नीतीश कुमार पर पत्‍थर, वहां महापंचायत लगाने पहुंच रहे हैं शरद यादव

शरद यादव (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्‍क : शरद यादव अब नीतीश कुमार से सीधी लड़ाई के मूड में हैं . वे 31 जनवरी को बक्‍सर के नंदन गांव में जा रहे हैं . महापंचायत लगायेंगे . साथ में, चौधरी चरण सिंह के पौत्र भी होंगे . यह नंदन गांव तब से सुर्खियों में है, जब से विकास समीक्षा यात्रा जाने के क्रम में नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव हुआ था . इसके बाद पुलिस ने यहां काली रात में अंधी कार्रवाई की है . जेल में कई दर्जन लोग बंद हैं . मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार के निर्देश के बाद भी जो निर्दोष बताये जा रहे हैं, उनके छोड़े जाने का मार्ग प्रशस्‍त नहीं हुआ है . लालू प्रसाद पर जनता से सपोर्ट मांगेंगे तेजस्वी, अपमान के बाद अब न्याय यात्रा करेंगे

पीसी के दौरान साथ बैठे हुए शरद ग्रुप के नेता

शरद यादव समर्थक नेता अली अनवर और अर्जुन राय आज 27 जनवरी को बक्‍सर में थे . मीडिया से वार्ता की . शरद यादव का प्‍लान बताया . बताते चलें कि नंदन गांव की राजनीति में हमले के बाद सबसे पहले जाप सांसद पप्‍पू यादव पहुंचे थे . वे बक्‍सर जेल में बंदियों को कंबल- खाना भी पहुंचा आए हैं . फिर तेजस्‍वी यादव नंदन गांव गए, जहां उनका स्‍वागत फूलों से किया गया .

अली अनवर और अर्जुन राय ने मीडिया से कहा कि पुलिस ने नंदन गांव में जुल्‍म की सारी हदें पार कर दी हैं . सीएम के काफिले पर भी अटैक के दिन गांव के लोगों की इच्‍छा सिर्फ नीतीश कुमार से मिलने की थी . समस्‍या बताना चाहते थे . कागज का विकास दिखाना चाहते थे . पर इन्‍हें रोकने को स्‍थानीय विधायक और मुखिया ने पुलिस की मौजूदगी में मारपीट की . फिर इसके बाद महादलितों में गुस्‍सा बढ़ गया .

उन्‍होंने कहा कि अटैक के बाद बक्‍सर पुलिस की कार्रवाई अंग्रेजों के जुल्‍म की तरह दिखी . रात को गांव में रेड किया गया . जो मिला, सबों को गिरफ्तार कर लिया गया . महिलाओं की अरेस्टिंग बगैर महिला पुलिसकर्मी की मौजूदगी में हुई . अली अनवर ने कहा कि इस जुल्‍म के खिलाफ शरद यादव 31 जनवरी की महापंचायत में आगे की लड़ाई का एलान करेंगे . नीतीश कुमार का महादलित प्रेम बेपर्दा हो चुका है . सात निश्‍चय के नाम पर कोई भी कार्य बिहार में ठीक से नहीं हो रहा है .

 

About Md. Saheb Ali 3281 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*