बड़ा बयान – ‘परीक्षा में अब स्टूडेंट्स के कपड़े भी उतरवा ले बिहार बोर्ड’

लाइव सिटीज, पटना डेस्कः बिहार में बस मुद्दा मिलना चाहिए. राजनीति तो यहां की फिजा में ही है. यात्रा और घोटाला के बाद लगता है आज सोमवार का दिन अब जूता-मोजा पर टीका रहेगा. बयान आने शुरू भी हो गए हैं. पहला सियासी रिएक्शन आया है एक्स डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की ओर से. तेजस्वी यादव ने बिहार बोर्ड के साथ-साथ पूरी राज्य सरकार को लपेटे में लिया है.   बिहार बोर्ड : सेंटर पर जूता-मोजा भी बैन, चप्पल पहन कर आयें मैट्रिक एग्जाम में

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

दरअसल बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) ने मैट्रिक परीक्षा को लेकर फरमान जारी किया है. फरमान के मुताबिक परीक्षा में जूता-मोजा पहनकर प्रवेश की इजाजत नहीं होगी. इसी को लेकर बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने तंज कसा कि अब बोर्ड कपड़ा भी उतरवा ले.

बता दें कि बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कदाचार रोकने की इस नई व्यवस्था को लागू करने का आदेश जारी किया है. परीक्षा 21 फरवरी से शुरू हो रही है. आनंद किशोर ने बताया कि जूता और मोजा नहीं पहनने के सम्बंध में निर्देश विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में दिया जाता रहा है. इसे मैट्रिक परीक्षा में भी लागू करने का निर्णय लिया गया है.

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा में जूते-मोजे नहीं पहनने के सम्बंध में निर्देश बिहार राज्य में अयोजित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में दिया जाता रहा है. जिसे इस वर्ष से वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में लागू करने का निर्णय लिया गया है. माध्यमिक परीक्षा, 2018 का आयोजन राज्य के 1426 परीक्षा केंद्रों पर दो पालियों में दिनांक 21 से 28 फरवरी, 2018 के बीच किया जायेगा. इस साल मैट्रिक की परीक्षा में लगभग 17.70 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे.

About Md. Saheb Ali 4741 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*