कल से बदलेगा पटना में इंटर करने और बाहर जाने का रास्ता, देखें NH-31 का नया ट्रैफिक सिस्टम

लाइव सिटीज डेस्कः पटना में इन करने और बाहर निकलने वाले हाईवेज पर ट्रैफिक सिस्टम में बड़ा बदलाव किया गया है. यह बदलाव प्रकाश पर्व के अवसर पर किया गया है. शहर में गाड़ियों के आने में दिक्कत न हो इसके लिए ट्रैफिक सिस्टम को बदल दिया गया है. हाईवे पर किसी तरह की जाम की समस्या न हो इसको लेकर कई बड़े बदलाव किए गए हैं. आप भी देख लें कैसे बदल गया है एनएच-31 पर ट्रैफिक सिस्टम –

यहां किया गया है बदलाव



  • बाढ़, मोकामा की ओर से आने वाली बड़ी व्यावसायिक गाड़ियां फतुहा ओवरब्रिज से हिलसा, एकंगरसराय, जहानाबाद होते हुए गौरीचक, मसौढ़ी मोड़ होते हुए जीरोमाइल पहुंचेंगी.
  • बाढ़, मोकामा की ओर से आने वाली छोटी गाड़ियां फतुहा ओवरब्रिज से दनियावां, बेलदारीचक, गौरीचक, संपतचक, मसौढ़ी मोड़ होते हुए जीरोमाइल पहुंचेंगी.
  • गांधी सेतु से फतुहा जाने वाली बड़ी व्यावसायिक गाड़ियां मसौढ़ी मोड़ से गौरीचक, जहानाबाद, एकंगरसराय, हिलसा होते हुए फतुहा जाएंगी.
  • अनीसाबाद की ओर से फतुहा जाने वाली छोटी गाड़ियां मसौढ़ी मोड़, संपतचक, गौरीचक, बेलदारीचक, दनियावां होते हुए फतुहा जाएंगी.

बता दें कि जीआया नूं… यानि आपका स्वागत है, पटना के जर्रे-जर्रे में बस गया है. वाहे गुरु की गूंज चारों तरफ गूंजने लगी है. गुरुद्वारा, बाल लीला, कंगन घाट से लेकर बाइपास टेंट सिटी तक पंजाब की आबोहवा दिख रही. कहीं सजाने-संवारने का काम दिन-रात चल रहा है, तो कहीं श्रद्धालुओं के स्वागत में सबकुछ सज-धज कर तैयार है. कहीं लंगर छकने के लिए श्रद्धालुओं की कतारें हैं, तो कहीं व्यवस्था का जायजा लेते अधिकारियों का काफिला. 1 हफ्ते में ट्रैफिक जाम से फ्री हो जाएगा पटना का यह इलाका, हो गया इंतजाम

बाइपास टेंट सिटी में एक साथ यहां 10 हजार श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था रहेगी. हर दिन एक लाख श्रद्धालु मत्था टेकेंगे. तैयारी का जायजा ले रहे प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर डीएम संजय कुमार अग्रवाल बताते हैं कि दरबार हॉल 22 दिसंबर तक तैयार हो जाएगा. उसी दिन शाम 4 बजे दरबार हॉल का फुल रिहर्सल किया जाएगा और शबद-कीर्तन शुरू हो जाएगा.

दरबार हॉल का निर्माण 200/400 फीट के एरिया में किया गया है. इसमें तीन इंट्री गेट होंगे. महिला, पुरुष वीआईपी के प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग गेट होगा. स्ट्रक्चर पूरी तरह तैयार है. अंदर से सजावट का काम चल रहा है. भव्य दरबार हॉल में सभा मंडप में बैठने के लिए सिख परंपरा का विशेष रूप से ख्याल रखा गया है. यहां श्रद्धालु गुरु ग्रंथ साहिब का मत्था टेकेंगे और अरदास, भजन और कीर्तन में शरीक हो सकेंगे.

वहीं विदेशी श्रद्धालुओं का पहला जत्था आज गुरुवार की शाम पटना पहुंचेगा. उन्हें एयरपोर्ट और पटना जंक्शन से टेंट सिटी पहुंचाने के लिए परिवहन निगम की बस खड़ी रहेगी. डीएम संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि लंदन से 100 श्रद्धालुओं का पहला जत्था गुरुवार को पटना पहुंचेगा. इन श्रद्धालुओं को ठहरने की व्यवस्था टेंट सिटी सहित अन्य स्थानों पर की गई है.