‘बिहार मेरी कर्मभूमि’, पटना पहुंचते ही बोले भक्त चरण दास-कांग्रेस की मजबूती के लिए कड़े से कड़े निर्णय लूंगा

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार कांग्रेस के नये प्रभारी भक्त चरण दास पटना पहुंच गए . पटना एयरपोर्ट पर प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, पार्टी के कई बड़े नेता समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. इस मौके पर मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि बिहार में कांग्रेस को मजबूत करने की लिए जो भी कड़े निर्णय लेना पड़े, वो लिया जाएगा.

बिहार को अपनी कर्मभूमि बताते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि जिम्मेदारियां बहुत बड़ी है. जिम्मेदारियां जितनी बड़ी होती है उतना ही काम करने में अच्छा लगता है. कांग्रेस का खोया हुआ जनाधार वापस लाया जाएगा. पार्टी को जमीनी स्तर पर ठीक किया जाएगा. इसके लिए किसी भी तरह के कठोर निर्णय लेने में हिचक नहीं होगी.



2020 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को अपेक्षा से काफी कम सीटें आयी है. इस सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा का आने वाले समय में ऐसा नहीं होगा. कांग्रेस को अपेक्षा से ज्यादा सीटें मिलेगी. इसके लिए हम सभी मिलकर काम करेंगे. पार्टी को मजबूत किया जाएगा.

बता दें कि शक्ति सिंह गोहिल की जगह कांग्रेस आलाकमान ने भक्त चरण दास को बिहार कांग्रेस प्रभारी बनाया है. शक्ति सिंह गोहिल ने स्वेच्छा से बिहार कांग्रेस प्रभारी पद से मुक्त करने का आग्रह किया था. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि उन्हें कोई हल्की जिम्मेवारी दी जाए.

भक्त चरण दास बिहार के अलावे दो अन्य राज्यों के भी कांग्रेस प्रभारी है. गांधी परिवार के साथ इनका काफी विश्वसनीय संबंध है. पार्टी नेतृत्व की जिम्मेवारी गांधी परिवार से इतर किसी और देने की आवाज जब कांग्रेस में उठी तो उस समय भक्त चरण दास ने गांधी परिवार पर भरोसा जताया. इन्होंने कहा था कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को किसी पद की लालच नहीं है.  ऐसे में इनके नेतृत्व पर सवाल नहीं खड़े किए जा सकते हैं.