विस चुनाव को लेकर सीटों की दावेदारी, विरोधियों ने कहा- नहीं चलेगा महागठबंधन

लाइव सिटीज, पटना : बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के सदमे से अभी महागठबंधन बाहर भी नहीं आया है लेकिन इसके सामने नया संकट आ चुका है. बड़ी हार के बाद महागठबंधन के प्रमुख नेता राजद सुप्रीमो के बेटे तेजस्वी यादव अभी मीडिया के फ्रेम से बाहर ही है. वहीं जिस वक्त में हार की समीक्षा कर भविष्य में महागठबंधन को मजबूत बनाने की बात होनी चाहिए थी उस वक्त महागठबंधन में प्रेशर पॉलिटिक्स शुरू हो गई है. ये प्रेशर पॉलिटिक्स आगामी विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर है.

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार में कांग्रेस को छोड़कर महागठबंधन के किसी दल का खाता भी नहीं खुल पाया था. वहीं एक भी सीट नहीं जीतने वाली पार्टियां भी अभी से विधानसभा में सीटों को लेकर दावेदारी कर रही हैं. जानकारी के मुताबिक उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा ने 27 सीटों पर चुनाव लड़ने की दावेदारी की है. वहीं बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने भी अपनी दावेदारी रख दी है.

हम और रालोसपा ने किया दावा

बता दें कि सोमवार को हम के प्रवक्ता विजय यादव ने कहा कि हमारे पार्टी प्रमुख ने मीटिंग करके कहा है कि हम लोग बिहार में 35 से 40 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि हम विधानसभा चुनाव भी महागठबंधन के साथ ही लड़ेंगे. वहीं रालोसपा ने भी 27 सीटों पर अपनी दावेदारी पेश की है.

पढ़ें- ओम बिड़ला होंगे नए लोकसभा स्पीकर

सीट शेयरिंग पर होगी बैठकर चर्चा

वहीं राजद नेता विजय प्रकाश ने कहा कि महागठबंधन की पार्टियों को लगता है कि हम सभी 240 सीटों पर चुनाव लड़ लें. उन्होंने कहा कि हमारी भी इच्छा है कि राजद सबसे बड़ी पार्टी है और हम भी 240 सीटों पर चुनाव लड़ें और महागठबंधन के साथी हमारी मदद करें. विजय प्रकाश ने कहा कि महागठबंधन के सभी घटक दल अपनी इच्छा जता रहे हैं, जब चुनाव होगा तब बैठकर सीट शेयरिंग पर चर्चा की जाएगी.

विरोधियों का प्रहार, नहीं चलेगा महागठबंधन

लोकसभा चुनाव की करारी हार पर महागठबंधन ने अभी तक ठीक से समीक्षा भी नहीं की, वहीं महागठबंधन में कई बार विरोध के स्वर भी उठते दिख जाते हैं. ऐसे में विरोधी पार्टियां भी महागठबंधन पर करारा प्रहार कर रही है. जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि महागठबंधन चलने वाला नहीं है, ये बिखर गया है. उन्होंने कहा कि कुछ दिनों के बाद राजद भी कई टुकड़ों में बंट जाएगा.

वहीं बीजेपी नेता सच्चिदानंद राय ने महागठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि महागठबंधन के साथियों को पता है कि ताकत किसी में नहीं है तो फिर सीट चाहे कितनी भी मांग लें. उन्होंने कहा कि राजद को भी लोकसभा चुनाव में कोई सीट नहीं मिली है तो उन्हें भी 35 से 40 सीटों पर ही चुनाव लड़ना चाहिए.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*