बिहार से किया लड़की का अपहरण, नेपाल में गैंगरेप के बाद फेंका बॉर्डर पर

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार से उठाया था लड़की को, सभी उसे नेपाल ले गए और उसके साथ दरिंदगी की वारदात को अंजाम दिया. दरअसल मामल सुपौल से सामने आया है. बताया जा रहा है कि बहियार में भाई को खाना पहुंचाने जा रही एक युवती का अपहरण कर दरिंदों ने नेपाल ले जाकर उससे दुष्कर्म किया फिर रात में  बॉर्डर पर लाकर छोड़ दिया.

बहियार में शनिवार को भैंस चरा रहे भाई को खाना पहुंचाने जा रही एक युवती का अपहरण कर दरिंदों ने नेपाल ले जाकर पहले दुष्कर्म किया फिर रात में ही नेऊर गोविंदपुर बॉर्डर पर लाकर छोड़ दिया. पीड़ित लड़की किसी तरह भारतीय सीमा में आयी. स्थानीय लोगों ने उसके घर सूचना देकर परिजनों को सौंपा. मामले में एक नामजद सहित दो पर केस दर्ज करने का डगमारा ओपी में आवेदन दिया गया है. मधुबनी में 7 साल की मासूम से गैंगरेप, मेला देखने गई थी बच्ची



पीड़ित लड़की ने पुलिस को बताया कि डगमारा-नेऊर पथ के एक स्लूइस गेट के पास राजपुर डगमारा टोला वार्ड 3 निवासी सदरे आलम एक अन्य युवक के साथ बाइक से आया और जबरन गाड़ी पर बैठा लिया. उसकी आंखों पर उनलोगों ने पट्टी बांध दी. इसके बाद नेपाल के सखड़ा स्थित एक गेस्टहाउस ले गये और बारी-बारी से कई बार दुष्कर्म किया.

फिर किसी से कुछ नहीं कहने की धमकी देते हुए रात में ही नेपाल के गोविंदपुर हाईस्कूल के पास छोड़कर भाग गये. पीड़िता किसी तरह नेपाल की सीमा लांघकर जब आंध्रामठ थाना क्षेत्र के नेऊर गांव पहुंची तो सड़क किनारे अलाव जलाकर बैठी महिलाओं ने उसे शरण दी. उन्होंने ही उसे पहनने के लिए कपडे़ भी दिये और पीड़िता के घर डगमारा राजपुर को खबर भी दी.

सूचना मिलने के बाद परिजन उसे डगमारा ले आये. बताया जा रहा है कि आरोपित पक्ष की ओर से पंचायती कर मामले को रफा-दफा करने का दबाव भी दिया गया लेकिन पीड़िता ने सदरे आलम को नामजद करते हुए उसके दोस्त पर भी केस दर्ज कराया. एसडीपीओ संतोष कुमार ने बताया कि घटना के संबंध में आवेदन दिया गया है. पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है.