सामने आ रही अड़चनों के बाद भी रुकी नहीं बिहार पुलिस, दर्ज किए तीन अहम बयान

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : मुंबई में सामने आ रही कई प्रकार के अड़चनों के बाद भी बिहार पुलिस की टीम रूकी नहीं है. रफ्तार भले ही थोड़ी कम हुई है, लेकिन बिहार पुलिस की टीम ने अपनी हिम्मत नहीं हारी है. ठोस तरीके से काम कर हर दिन मुंबई पुलिस के सामने वो कड़ा चैलेंज रख रही है. सुशांत सिंह राजपूत मामले में पुलिस डिपार्टमेंट के आधिकारिक सूत्रों से जो अहम जानकारी मिली है, उसके अनुसार सोमवार को तीन महत्वपूर्ण बयान दर्ज किये गए हैं.
जिन लोगों के बयान दर्ज किये गए, उसमें सिद्धार्थ पीठानी, दूसरा दीपेश सावंत और तीसरा सिद्धार्थ गुप्ता शामिल है.

सूत्र के अनुसार सुशांत सिंह के मौत मामले में आज बिहार पुलिस ने सिद्धार्थ पीठानी को पूछताछ के लिए बुलाया था. लेकिन वो हैदराबाद में था. इस कारण वो पुलिस के सामने नहीं आया. तब जाकर बिहार पुलिस की टीम ने फोन कॉल के द्वारा सिद्धार्थ पीठानी का किया बयान दर्ज किया. पुलिस सूत्रों का कहना है कि सिद्धार्थ पीठानी को इसके बाद भी सामने बुलाया जाएगा, सामने बैठकर उससे पूछताछ की जाएगी, उसका फिर से बयान दर्ज की किया जाएगा. पुलिस सामने से उसके बयान को कलमबद्ध करेगी.



इसके बाद दीपेश सावंत से भी करीब 2 घंटे तक की पूछताछ की गई. पूछताछ के दौरान उसके बयान को बिहार पुलिस ने किया दर्ज किया. दीपेश सावंत वो शख्श है जो आखिरी समय में सुशांत के साथ उसके घर पे मौजूद था. सूत्र के अनुसार बिहार पुलिस ने अब तक दस लोगो का बयान दर्ज किया है. अपने बयान में इन तीनों ने पुलिस को किस तरह की जानकारी दी है, यह अभी साफ नहीं हो पाया है.

गौरतलब है कि रविवार की देर रात पटना से मुंबई पहुंचे सिटी एसपी सेंट्रल विनय तिवारी को जबरन बीएमसी के अधिकारियों ने क्वारेंटाइन कर दिया था. महाराष्ट्र का सरकारी सिस्टम लगातार बिहार पुलिस की टीम को रोकने की कोशिश में लगा हुआ है. बावजूद इसके बिहार पुलिस की टीम अपने काम को अंजाम तक पहुंचाने में लगी हुई है.