बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन का आरोप, वरीय अधिकारी AC रूम में बैठ सिर्फ आदेश पारित करते हैं

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार के खगड़िया जिले में एसएचओ आशीष कुमार सिंह के शहीद होने के मामले में बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने गंभीर आरोप लगाए हैं. बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने कहा है कि पुलिस के वरीय अधिकारी AC रूम में बैठकर आदेश पारित करते हैं. इस मामले को कई बार उठा चुके हैं लेकिन कोई कार्यवाई नहीं हुई. छापेमारी में वरीय अधिकारी को साथ जाना चाहिए. इसके साथ ही साथ शहीद SHO के परिवार को 1 करोड़ रुपया मिलना चाहिए.

खगड़िया में एसएचओ शहीद

आपको बता दें कि जब दिनेश मुनि गैंग के दियारा में छिपे होने की खबर मिलने पर देर रात एक बजे ट्रैक्टर से ही थाने से निकले तो, ये ठान ली थी कि आज इस अपराधी को पकड़ ही लेना है. मुठभेड़ के दौरान गोली लगने के बावजूद वो डटे रहे और एक अपराधी को ढेर किया. मिशन सफल पूरा होता दिखाई दे रहा था तभी चार और गोलियां उनके सीने और पेट में समा गईं. बिहार पुलिस ने एक जांबाज दारोगा खो दिया.

एसएचओ आशीष कुमार सिंह शहीद हो गए हैं लड़ते-लड़ते. आपको बता दें कि आशीष शुरू से ही क्विक एक्शन लेने वालों में से थे. आशीष बिना देरी किए स्पॉट पर होते थे. अपराध का जिक्र सुनते ही आशीष कुमार सिंह फौरन ही उसकी मॉनिटरिंग शुरू कर देते. फिर प्लान करते. और आखिर में धावा बोल देते थे. आशीष के टीम मेंबर्स जो कि बिहार पुलिस में काम कर रहे हैं, वो भी बताते हैं कि आशीष कितने निडर थे.

आशीष कुमार सिंह अपने पीछे हंसता-खेलता परिवार छोड़ गए हैं. आशीष की पत्नी और उनके दो मासूम बच्चों को समझ ही नहीं आ रहा है कि अचानक ये क्या हो गया. उनकी सारी खुशियां अपराधियों ने छीन ली. आपको बता दें कि आशीष की मां की तबीयत ठीक नहीं रहती थी. आशीष की मां को कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी है. उनका इलाज करवाने खुद ही आशीष दिल्ली जाया करते थे.

About Md. Saheb Ali 3471 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*