बिहार के राजनीतिक गलियारे में सीबीआई जांच का चौतरफा स्वागत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए सीबीआई को जांच का आदेश दे दिया है. वहीं कोर्ट ने मुंबई पुलिस को इस मामले की जांच में सीबीआई को सहयोग करने को कहा है.  सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का बिहार के दिग्गज नेता और मंत्री साथ ही विपक्ष के नेताओं ने दिल से स्वागत किया है.

बिहार सरकार में मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से जनमानस का न्यायिक व्यवस्था पर भरोसा प्रगाढ़ हुआ है और उम्मीद बढ़ी है. सुशांत के परिजनों द्वारा पटना में FIR दर्ज करवाने के उपरांत जांच के लिए मुंबई गई पुलिस के साथ वहां किए गए असहयोग और पुलिस टीम के नेतृत्व के लिए गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वरंटाइन किया जाना सीधे तौर पर जांच को बाधित करना था. परिजनों के अनुरोध पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीबीआई जांच की अनुशंसा की, जिसे आज माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने भी जांच की अनुमति प्रदान कर दी.



वहीं जेडीयू नेता डॉ. अजय आलोक ने कहा कि सत्यमेव जयते , अब CBI जांच करेगी और महाराष्ट्र सरकार सारे आदेश मानेगी और बिहार सरकार के पास अधिकार था FIR करने का और CBI जांच की सिफ़ारिश करने का , अब बोलिए कानूनविद और ज्ञानी लोग ? फिर से कह दीजिए supreme कोर्ट का फ़ैसला ग़लत है राहुल गांधी ?? अब बचा लो दोषियों को.

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मामले पर सबसे बड़ा ब्यान दिया है. उन्होंने कहा कि सबसे पहले उन्होंने ही सड़क से लेकर सदन तक सीबीआई जांच की मांग की थी. उसी का परिणाम था कि 40 दिनों से सोई बिहार सरकार को कुंभकर्णी नींद से जागना पड़ा था. आशा है एक तय समय सीमा के अंदर न्याय मिलेगा.

वहीं एलजेपी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी इस फैसले का दिल से स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि ‘सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का मैं स्वागत करता हूं. जांच सीबीआई से हो यह सबकी मांग थी. अब जब सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दे दिया है तो यह जीत सुशांत सिंह राजपूत के करोड़ों प्रशंसकों के साथ उनके पिता और परिवार की है. मुझे विश्वास है कि अब जल्द सीबीआई सभी पहलू पर काम करेगी.’