क्या बिहार को सच में विशेष राज्य का दर्जा मिलेगा ? जदयू वाले तो राग अलापना नहीं छोड़ रहे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार में अब एनडीए की सरकार है. पहले महागठबंधन की बनी फिर नीतीश कुमार ने नाता तोड़ लिया और बीजेपी से जा मिले. और एक बार फिर से बिहार में एनडीए सरकार का कब्जा हो गया. सबसे ज्यादा सीट जीतने वाली आरजेडी विपक्ष में चली गई. चुनाव से पहले बिहार में जदयू ने विशेष राज्य के दर्जा पर खूब हल्ला मचाया. बिहारियों के डीएनए की भी बात हुई. लेकिन मिला कुछ नहीं. अब भी जदयू अड़ा है स्पेशल स्टेटस पर लेकिन भाजपा स्पेशल पैकेज का लॉलीपॉप पकड़ाने में लगी है.

जदयू ने फिर छेड़ा स्पेशल स्टेटस का राग

दरअसल, बिहार में अपराध पर गरम सियासत के बीच हम स्पेशल स्टेटस की बाद इसलिए कर रहे हैं, क्यों कि एक बार फिर से जदयू के एक नेता ने कहा है कि ये हमारी प्रतिबद्धता है. हम बात कर रहे हैं जदयू के प्रवक्ता और एमएलसी नीरज कुमार की. उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि विशेष राज्य का दर्जा हमारी प्रतिबद्धता है. उन्होंने अटल जी की कविता का इस्तेमाल करते हुए कहा कि हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा, विशेष दर्जा के लिए अभियान जारी रखूंगा.

आपको बता दें कि नीरज कुमार मोतिहारी में थे. महादलित कार्यकर्त्ता सम्मलेन में भाग लेने आए हुए थे. इसी दौरान पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने स्पेशल स्टेटस के सवाल पर ये जवाब दिया. एक तरफ जदयू बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने पर डटी हुई है. तो सहयोगी भाजपा विशेष पैकेज की मांग कर रही है. इन सबके बीच वित्त आयोग से आई टीम ने राज्य को विशेष राज्य का दर्जा देने पर अपने हाथ खड़े कर दिए हैं.

इतना ही नहीं यूएनडीपी ने नीतीश कुमार के विकास मॉडल की हवा निकाल दी है. बिहार को सबसे गरीब राज्य की श्रेणी में डाल दिया है. इन सब के बावजूद भी जदयू नेता अपने राग अलापने की मुद्रा को छोड़ नहीं रहे हैं.

About Md. Saheb Ali 4740 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*