NH-30 पर 7 घंटे तक नहीं चली गाड़ियां, जलजमाव से प्रभावित लोगों ने किया था रोड जाम

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : राज्य सरकार और नगर निगम के खिलाफ पटना के लोगों का गुस्सा थमता नहीं दिख रहा है. जल जमाव वाले एरिया में रह रहे लोगों का गुस्सा अब और चरम पर जा पहुंचा है. 11 दिन बीत गए हैं, बावजदू इसके पटना के कई हिस्सों में बारिश का पानी अब भी जमा है. कई इलाकों से बारिश का पानी अब भी नहीं निकला है.

इस कारण एक बार फिर से साउथ पटना के जलजमाव प्रभावित इलाके के लोग सड़क पर उतर आए. गुस्साए लोगों ने बुधवार की सुबह साढ़े 9 बजे से ही पटना-बख्तियारपुर फोरलेन को जाम कर दिया. शाम 4 बजे तक एक भी गाड़ी नहीं चली. पूरे सात घंटे तक एनएच-30 जाम रहा.

लंबे जाम में फंसी रही गाड़ियां

इस जाम में लंबी दूरी की पैसेंजर्स से भरी बसों के साथ ही लोडेड ट्रक, स्टूडेंट्स से भरी हुई बसें और मरीज को ले जा रही एंबुलेंस बुरी तरह से फंसी रही. आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. जकरियापुर और पूर्वी आसोचक के लोगों ने नंदलाल छपरा के पास रोड को जाम किया था.

जानकारी मिलने पर अगमकुआं सहित कई थानों की पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई. लेकिन इलाके के सांसद, विधायक और प्रशासनिक महकमे के कोई बड़े अधिकारी वहां नहीं आए. जबकि पटना साहिब के सांसद व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद दिन राजेंद्र नगर इलाके में ही घूम रहे थे.

आश्वासन के बाद हटाया गया जाम

सरकारी लापरवाही की वजह से पब्लिक को लगातार परेशानी हो रही है. लेकिन सरकार, प्रशासन और नगर निगम के अधिकारियों व वार्ड पार्षदों को इससे कोई लेना-देना ही नहीं है. यही वजह है कि महज सात दिनों के अंदर दूसरी बार जलजमाव से परेशान लोग सड़क पर उतर आए. इससे पहले 2 अक्टूबर को जकरियापुर और पूर्वी आसोचक के लोगों ने एनएच-30 को जाम किया था. फिलहाल मौके पर पहुंच कर पटना सदर के सीओ ने जल्द ही जल जमाव से निजात दिलाने का आश्वासन दिया है. जिसके बाद ही एनएच-30 से जाम को हटाया जा सका है.

बिहार की मदद के लिए महानायक ने बढ़ाया हाथ, 51 लाख देकर दिया पीड़ितों का साथ

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*