बिहार विस चुनाव में आधी आबादी की होगी अहम भूमिका, नवादा से विभा देवी को मिला टिकट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आगामी बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को इस बार नयी दिशा देने की कोशिश की जा रही है. यही वजह है कि इस बार के चुनाव में आधी आबादी को ख़ास जगह दी गयी है. आपको बता दें कि पांच में से चार विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं जहां राजनीतिक दलों ने महिलाओं को उम्मीदवार बनाया है. बात नवादा विधानसभा क्षेत्र की करें तो यहां से आरजेडी ने विभा देवी को अपना प्रत्याशी बनाया है. विभा देवी बाहुबली और दबंग राजबल्लभ यादव की पत्नी हैं. और इस बार फिर नवादा से अपना किस्मत आजमा रही हैं.

वहीं, पूर्वी चंपारण के केसरिया विधानसभा सीट से जेडीयू ने सीपीआई के दिग्गज नेता और पूर्व सांसद दिवंगत कमला मिश्रा मधुकर की बेटी शालिनी मिश्रा को टिकट दिया है. शालिनी भी पूर्व में सीपीआई में थीं मगर इस साल फरवरी में उन्होंने वामपंथी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद वो जेडीयू में शामिल हो गईं. जेडीयू में शामिल हुई शालिनी को पूर्वी चंपारण में केसरिया से उम्मीदवार बनाया गया है.



जीरादेई सीट पर इस बार मुकाबला टक्कर का देखने को मिल सकता है. यहां मुख्य मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है. एनडीए की ओर से जदयू ने कमला कुशवाहा और महागठबंधन की ओर से सीपीआई (एमएल) (एल) ने अमरजीत कुशवाहा को टिकट दिया है. अभी यह सीट जदयू के खाते में है और रमेश सिंह कुशवाहा यहां से मौजूदा विधायक हैं.

वहीं, सबसे हॉट सीट डुमराव से दबंग एमएलए ददन पहलवान का टिकट काटकर पार्टी की मुस्लिम तर्जुमान अंजुम आरा को उम्मीदवार बनाया गया है.

बहरहाल, चर्चा सबसे ज्यादा नवादा सीट की हो रही है, क्योंकि यहां से राजद ने विधायक राजबल्लभ यादव की पत्नी को टिकट दिया है. इसके पूर्व 2019 में नवादा लोकसभा से राजद प्रत्याशी थी, विधानसभा चुनाव के हिसाब से पहली बार चुनावी समर में उतरी हैं. यहां से जदयू के कौशल यादव, लोजपा के शशिभूषण कुमार सहित कुल 15 प्रत्याशियों में एक मात्र महिला विभा देवी हैं. इस बार लोगों में भी राजद की उम्मीदवार विभा यादव से उम्मीद है. विभा ने कहा कि वो जीत कर आती हैं तो नवादा का संपूर्ण विकास करेगी.