28 जून से बिहार विधानसभा का मॉनसून सत्र, सदन में चमकेगी ‘चमकी’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में विधानसभा का मॉनसून सत्र 28 जून से शुरू होने जा रहा है. बिहार के मुजफ्फरपुर समेत अन्य जिलों बच्चों की मौत को लेकर हमलावर विपक्ष को देखकर लगता है कि विधानसभा का सत्र हंगामेदार हो सकता है. विपक्ष चमकी बुखार से हुए मासूम बच्चों की मौत को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी में है. बता दें कि अबतक सूबे में चमकी बुखार से 160 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है.

हंगामेदार हो सकता है सत्र

बता दें कि विधानसभा के पिछले सत्र के दौरान मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में यौन उत्पीड़न का मामला छाया रहा था. मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में यौन उत्पीड़न को लेकर विधानसभा में विपक्ष ने सरकार को जमकर घेरा था. इस बार विधानसभा के मॉनसून सत्र में चमकी बुखार का मामला गरमाने की उम्मीद है. विपक्ष सरकार से चमकी बुखार को लेकर सवाल करेगी. बिहार में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर रहा है.

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने इस मामले में सीएम नीतीश कुमार से नैतिकता के आधार पर इस्तीफे की मांग की थी. वहीं पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि बिहार की स्वास्थ्य विभाग खुद ICU में है.

कांग्रेस ने विधानसभा के मॉनसून सत्र को लेकर कमर कस ली है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि सरकार की भूमिका पर हम लोग सड़क से सदन तक सवाल उठाएंगे और सरकार से जवाब मांगेंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से सदन को चलने देने के लिए तैयार है लेकिन हमें जवाब चाहिए कि कैसे इतने बच्चों की मौत हो गई और सरकार इस पर मौन क्यों है.

नालंदा की बेटी श्वेता ने फिलीपींस में लहराया परचम, भारत ने जीता ब्रांज मेडल

वहीं राजद के विधायक रामानुज प्रसाद ने बिहार में चमकी बुखार से हो रही मासूम बच्चों की मौत को लेकर कहा कि इस मामले पर न तो  केंद्र सरकार कुछ बोल रही है और न ही राज्य सरकार. उन्होंने कहा कि पार्टी इस मामले को विधानसभा के मॉनसून सत्र में उठाएगी. रामानुज प्रसाद ने कहा कि हम सरकार से सवाल पूछेंगे कि बच्चों के मौत के पीछे क्या कारण है और सिस्टम कैसे उन्हें बचाने में फेल हो गया.

बिहार में कोई विपक्ष नहीं है

विपक्ष के सवाल और हंगामे को लेकर बीजेपी ने कहा कि ये सब सिर्फ राजनीति है. बीजेपी नेता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि बिहार में विपक्ष नाम की कोई चीज है ही नहीं. बिहार के आम लोगों के दुख से विपक्ष को कोई मतलब नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि विपक्ष केवल बच्चों की मौत पर संवेदना के नाम पर राजनीति कर रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*