बीजेपी के पास 19 लाख लोगों को रोजगार देने का रोडमैप- सुशील मोदी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बीजेपी के 19 लाख लोगों को रोजगार देने की घोषणा को विपक्ष ने जुमला करार दिया है. जिसपर पलटवार करते हुए डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा और दूसरे दलों में यही फर्क है कि दूसरे जहां तारे तोड़ लाने जैसे वादे कर केवल सत्ता हथियाना चाहते हैं, वहां भाजपा सिर्फ वही बात करती है, जिसे जमीन पर लागू किया जा सके.

हम कोरा वादा नहीं, सेवा का संकल्प करते हैं, इसलिए  घोषणा पत्र में 19 लाख लोगों को रोजगार देने का निश्चय किया है.हमने इसका ब्योरा भी दिया है कि ये अवसर लोगों को कैसे दिलाएंगे.



 हमारी सरकार बनी तो बिहार को आइटी हब बनाकर 5 लाख युवाओं को रोजगार देंगे, 2 लाख नए शिक्षक नियुक्त होंगे, 10 लाख लोगों को कृषि क्षेत्र में रोजगार मिलेगा और स्वास्थ्य सहित कई विभागों में 2 लाख से ज्यादा लोगों को सरकारी नौकरी भी देंगे.

सुशील मोदी ने तेजस्वी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जो लोग पहली कैबिनेट में 10 लाख सरकारी नौकरी देने का हवा-हवाई वादा कर रहे हैं, वे यह नहीं बताते कि एक झटके में इतनी नौकरी देने के लिए 58 हजार करोड़ रुपये लाने को बिहार को कहां-कहां गिरवी रखेंगे?.

जो 26 साल की उम्र में 54 बेनामी सम्पत्ति बनाने का बिंदुवार जवाब तीन साल में भी नहीं दे पाये, वे नौकरी देने के साधन जुटाने का ब्योरा भी नहीं दे पायेंगे. जो इतने पढ़े-लिखे नहीं कि “नौकरी देने” और “रोजगार” देने का अंतर समझ सकें, वे बजट क्या समझेंगे? .

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जांचे-परखे नेतृत्व में एनडीए जनता का आशीर्वाद मांग रहा है, इसलिए दोनों दलों के घोषणा पत्र वही बातें कही गईं हैं, जिन्हें हम पूरा कर सकते हैं. मोदी हैं, तो मुमकिन है. नीतीश हैं, तो विकास है. भाजपा है, तो भरोसा है.