अपराधियों का एनकाउंटर मुद्दे पर आमने-सामने हुई बीजेपी-जेडीयू, यूपी बनाम नीतीश मॉडल को लेकर दोनों में ठन गयी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार की हत्या ने सत्ता पक्ष को भी मर्माहत कर दिया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के साथ सुबह में घूमने वाले रूपेश की शाम में हुई हत्या से बीजेपी नेता भी गुस्से में हैं. वे बिहार पुलिस की कार्यशैली से खासे नाराज हैं. वे यूपी मॉडल पर अपराधियों के एनकाउंटर करने की बात कर रहे हैं. जबकि, जेडीयू नेता बोले, नीतीश मॉडल से ही अपराधियों पर लगाम लगेगी.

बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने दिवंगत रूपेश के परिजनों से मुलाकात के बाद पुलिस पर अपना गुस्सा निकाला. उन्होंने कहा कि डीजीपी इस मामले में खुद संज्ञान लें. पुलिस यूपी मॉडल के तर्ज पर अपराधियों का एनकाउंटर करे. तभी क्राइम पर अंकुश लगेगा. दूसरी ओर, बीजेपी विधायक नितिन नवीन भी रूपेश सिंह के आवास पर पहुंचे. उन्होंने भी यूपी मॉडल का समर्थन किया. उन्होंने दो टूक कहा कि यूपी के तर्ज पर बिहार में भी अपराधियों का एनकाउंटर किया जाए, जिससे उसमें पुलिस का खौफ पैदा हो सके.



उधर, बीजेपी सांसद अजय निषाद ने कहा कि पुलिस केवल शराब और ओवर लोडिंग में फंसी रह जाती है और अपराधी वारदात कर चले जाते हैं. नीतीश कुमार को पहले की तरह काम करना चाहिए.

इधर बीजेपी नेता भले ही यूपी मॉडल की बात कर रहे हैं, लेकिन जेडीयू नीतीश मॉडल से ही क्राइम कंट्रोल की बात कर रहे हैं. जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने कहा कि बिहार पुलिस एसी से निकलें. यूपी मॉडल नहीं, बल्कि नीतीश मॉडल से क्राइम कंट्रोल करें. ऐसी घटनाओं को रोकने में नाकाम बिहार पुलिस के अफसर नीतीश कुमार को बदनाम कर रहे हैं.

वहीं पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने भी कहा कि नीतीश कुमार क्राइम कंट्रोल करने में सक्षम हैं. बिहार में यूपी मॉडल की जरूरत नहीं है. नीतीश मॉडल से ही क्राइम को कंट्रोल किया जा सकता है. इसके लिए किसी की नसीहत की जरूरत नहीं है. हमारे मुख्यमंत्री बखूबी जानते हैं कि कैसे क्राइम को कंट्रोल करना है.