गुलाम रसूल बलियावी पर बीजेपी का पलटवार, नहीं माना कानून तो होगी कार्रवाई

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : तीन तलाक बिल को लेकर जेडीयू और बीजेपी के बीच एक स्टैंड बनता हुआ नहीं दिख रहा है. जेडीयू शुरू से ही तीन तलाक बिल का विरोध करती रही है. अब यह विरोध खुलकर सामने आ रहा है और तीन तलाक पर बीजेपी और जेडीयू के बीच अनबन का दौर जारी है. जेडीयू विधायक गुलाम रसूल बलियावी द्वारा तीन तलाक बिल को लेकर बयान के जवाब ने बीजेपी ने भी तल्ख रूख अपना लिया है. गुलाम रसूल बलियावी को दो टूक जवाब देते हुए बीजेपी ने कहा है कि कानून नहीं मानने वाले सजा भुगतने के लिए तैयार रहें.

जेडीयू-बीजेपी का स्टैंड अलग

जेडीयू के कई नेताओं ने पहले भी तीन तलाक बिल को लेकर पार्टी का स्टैंड क्लियर किया था. पार्टी के महासचिव केसी त्यागी ने पहले भी कहा था कि जेडीयू इस बिल का संसद में विरोध करेगी. बीजेपी और जेडीयू का स्टैंड अलग-अलग है. साथ ही उन्होंने कहा था कि बीजेपी को जो बहुमत चाहिए वो उनके पास है. हालांकि राज्यसभा में बिल पास कराने के लिए बीजेपी को जेडीयू के सहयोग की जरूरत होगी.

जिसे जो कानून बनाना है बनाए, कौन पूछता है

बता दें कि जेडीयू के विधायक गुलाम रसूल बलियावी ने लाइव सिटीज के साथ खास बातचीत में तीन तलाक बिल को लेकर सख्त विरोध जताया था. उन्होंने बड़ा बयान देते हुए कहा था कि तीन तलाक के मुद्दे पर जदयू और बीजेपी की राहें अलग-अलग हैं. हम इसका सपोर्ट नहीं करते. उन्होंने कहा है कि किसी धर्म को आहत करने वाला कोई भी कानून अगर आएगा तो हम डट कर उसके खिलाफ विरोध करेंगे. उन्होंने आगे कहा था कि सरकार उन महिलाओं के बारे में क्यों नहीं विचार कर रही जो बिना तलाक के ही वृद्धा आश्रम में पल रही हैं.

गुलाम रसूल बलियावी ने तल्ख रवैया अपनाते हुए कहा था कि जिसको जो कानून बनाकर रखना है रख ले. कौन पूछता है. वहीं तलाक के मामले पर जेल जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मुसलमान अपने ग्रंथ के हिसाब से ही चलेगा. उन्होंने कहा कि जदयू ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस प्रस्ताव को पारित कर दिया था.

हर हाल में पारित होगा बिल

हालांकि बीजेपी हर हाल में तीन तलाक बिल को पारित कराना चाहती है. बलियावी के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि तीन तलाक बिल मुस्लिम महिलाओं की सुरक्षा और अस्मिता का सवाल है. इसे हर हाल में पारित कराया जाएगा. बीजेपी नेता ने गुलाम रसूल बलियावी पर निशाना साधते हुए कहा कि बिल पारित होने के बाद सबको कानून मानना होगा और जो नहीं मानेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*