यूपी के तर्ज पर बिहार में हो एनकाउंटर, रूपेश मर्डर से आहत बीजेपी नेताओं ने की मांग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : इंडिगो के मैनेजर रूपेश हत्याकांड से बिहार में सियासी बयानों का भूचाल आ गया है. ना सिर्फ विपक्ष बल्कि सत्तापक्ष के नेता भी बिहार पुलिस की कार्यशैली से खासा नाराज है. पहले बीजेपी के एकाध नेता ही लॉ एंड ऑर्डर पर सवाल खड़े कर रहे थे लेकिन रूपेश मर्डर के बाद अब दर्जनों नेता खुलकर अपराधियों का सफाया करने की बात करने लगे हैं. पुलिस की कार्यशैली को नाकाफी बता रहे हैं. यूपी के तर्ज पर अपराधियों का एनकाउंटर करने की मांग की जाने लगी है.  

एनडीए में शामिल सबसे बड़ा घटक दल बीजेपी के नेताओं ने भी साफ-साफ कहा है कि पुलिस जल्द अपराधियों को गिरफ्तार करे अथवा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसके लिए सीबीआइ जांच की अनुशंसा करें. अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले. बीजेपी सांसद जनार्धन सिंह सिग्रीवाल ने की डीजीपी से जल्द रूपेश की हत्या में शामिल अपराधी को पकड़ने की मांग की है. उन्होंने रूपेश के परिजन से मुलाकात की. इसके बाद अपना गुस्सा बिहार पुलिस को निकालते हुए कहा कि डीजीपी इस मामले पर खुद संज्ञान लें, अपराधियों को कठोर से कठोर सजा मिले, तब जाकर ऐसे अपराध पर लगाम लगेगा.  



उधर बीजेपी विधायक नितिन नवीन रूपेश सिंह के आवास पहुंचे. भाजपा विधायक ने कहा कि पूरी सरकार और पूरी पुलिस की टीम लग गई है. हम भी चाहते हैं और हमारी मांग है कि जल्द से जल्द पूरे मामले का खुलासा हो. उन्होंने कहा कि यूपी के तर्ज पर बिहार में भी अपराधियों का एनकाउंटर किया जाए, जिससे अपराधियों में पुलिस का खौफ पैदा हो सके.

उधर जेडीयू सांसद ने भी रूपेश सिंह हत्याकांड की निंदा करते हुए कहा कि बिहार पुलिस एसी से निकलें. यूपी मॉडल नहीं  बल्कि नीतीश मॉडल से क्राइम कंट्रोल करें. ऐसी घटनाओं को रोकने में नाकाम बिहार पुलिस के अफसर नीतीश कुमार को बदनाम कर रहे हैं.