इन मुद्दों पर बिहार का चुनाव लड़ेगी बीजेपी, प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कह दिया…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  बिहार में विधानसभा चुनाव अक्टूबर-नवंबर के महीने में होने हैं. बिहार के अन्य दल चुनाव होने या ना होने की ऊहापोह में ही पड़े हुए हैं तो बीजेपी इनसे कई कदम आगे चल रही है. पार्टी ने जनता के बीच जाने के लिए मुद्दा का भी सलेक्शन कर लिया है.

प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी विधानसभा चुनाव में दो चीजों को मुद्दा बनाएगी. राज्य की जनता के बीच इन्ही दो मुद्दों को लेकर पार्टी के नेता जाएंगे. नई शिक्षा निति(एनईपी) और आत्मनिर्भर भारत के मुद्दे पर बिहार विधानसभा का चुनाव बीजेपी लड़ेगी.



केंद्र सरकार द्वारा तैयार एनईपी और आत्मनिर्भर भारत अभियान को बिहार चुनाव के लिए महत्वपूर्ण मुद्दा बताते संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार के लिए एनईपी एक बहुत बड़ी पॉलिसी है. इस पॉलिसी के तहत राज्य के छात्रों को 8 साल की उम्र से ही तकनीकी शिक्षा मिलनी शुरू हो जाएगी. सरकार भी कौशल विकास को बढ़ावा देगी. बिहार के शिक्षा क्षेत्र में एनईपी के माध्यम से एक बड़ा बदलाव आ सकता है.

वहीं जमीन संबंधी मुद्दों के कारण बिहार बड़े उद्योग नहीं लगने की बात करते हुए प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि छोटे उद्योगों, लघु उद्योगों और मध्यम उद्योगों को बढ़ावा दिया जाए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के विकास में अपनी भागीदारी देने के लिए नए उद्यमियों खातिर 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की है. यह आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत ही संभव हुआ है. जायसवाल ने कहा कि आत्मनिर्भर बिहार, आत्मनिर्भर भारत की सफलता बड़ी भूमिका अदा करेगा.

केन्द्र सरकार द्वारा बिहार को अलग से डेढ़ लाख करोड़ का पैकेज देने पर खुशी जाहिर करते हुए संजय जायसवाल ने कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास और छोटे उद्योगों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार को यह पैकेज दिया है. अगर इस पैकेज का सही इस्तेमाल किया जाए तो पूरे राज्य के साथ-साथ गांवों के युवा भी आगे बढ़ेंगे.