ब्रजेश ठाकुर सजाता था शेल्टर होम में महफिल, लड़कियों को दिखाई जाती थी गंदी फिल्में, नचवाते भी थे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः सीबीआई की चार्जशीट ने मुजफ्फरपुर महापाप मामले में बड़े खुलासे किए हैं. चार्जशीट के मुताबिक बालिकागृह में रोज ब्रजेश ठाकुर की महफिल सजती थी. ब्रजेश, बालिका गृह के स्टाफ और सीडब्ल्यूसी के सदस्य सहित अन्य लोग रात में पहुंचते थे. किशोरियों को छोटे-छोटे कपड़े पहनाकर अश्लील गानों पर डांस के लिए मजबूर करते. इनकार करने पर उन्हें मारा पीटा जाता था.

लड़कियों को ब्लू फिल्में भी दिखाई जाती थीं. इसके बाद नशे का इंजेक्शन व दवा देकर दुष्कर्म किया जाता था. विरोध करने वाली किशोरियों को तो कुर्सियों से बांधकर हवस का शिकार बनाया जाता था. बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी. पूरी चार्जशीट भास्कर को मिली है. इसमें 33 किशोरियाें समेत 102 लोगों की गवाही दर्ज है. सीबीआई की चार्जशीट भी पुलिस की चार्जशीट के पैटर्न पर ही है.

CBI ने मुख्य आरोपित ब्रजेश ठाकुर सहित 21 आरोपितों के विरुद्ध विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में सभी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. इसके अनुसार लड़कियों को गंदे भोजपुरी गानों पर डांस कराया जाता था. उन्हें नशे की सूई और दवा देकर सुला दिया जाता था. सोई अवस्था में उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था.

21 आरोपियों पर दायर चार्जशीट में इस बात का साफ जिक्र है कि बालिका गृह में रोज ब्रजेश ठाकुर की महफिल सजती थी. आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी. इसमें 33 बच्चियों समेत 102 लोगों की गवाही दर्ज है. इसमें खास बात ये है कि सीबीआई की चार्जशीट भी पुलिस की चार्जशीट के पैटर्न पर ही है.

चार्जशीट के कवर पन्ने पर सीबीआई ने स्पष्ट कर दिया है कि बयान देने वाली किशोरियों का नाम चार्जशीट में नहीं खोला गया है. इनके नाम और केस स्टडी बंद लिफाफे में कोर्ट में दिया गया है. ताकि किशोरियों की गोपनीयता बनी रहे.

About Md. Saheb Ali 4925 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*