CBI को लालू एंड फैमिली के खिलाफ मिला बड़ा सबूत, बढेंगी मुश्किलें

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनकी फैमिली की मुश्किलें फिर सीबीआई बढ़ा सकती है. सीबीआई को रेल मंत्रालय से अति-महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट हाथ लगी है. कहा जा रहा है कि यह वह खास सबूत है जिससे लालू प्रसाद की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ सकती हैं. सीबीआई इस डॉक्यूमेंट को रेलवे कॉन्ट्रैक्ट में लालू प्रसाद द्वारा कथित घोटाले के खिलाफ पेश कर सकती है. 

बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने अपने रेल मंत्रित्व काल में पटना में एक कीमती जमीन के बदले IRCTC का कॉन्ट्रैक्ट एक प्राइवेट कंपनी को दे दिया.

अंग्रेजी अख़बार में छपी खबर के मुताबिक, सूत्रों की मानें तो सीबीआई को मिली इस नोटशीट में यह लिखा हुआ है कि  लालू प्रसाद ने ही आदेश दिया था कि रेलवे के दो होटल- BNR रांची और पुरी के रखरखाव का कॉन्ट्रैक्ट सुजाता होटल को दिया जाए. यह कंपनी विनय और विजय कोच्चर की है. 

सूत्रों की मानें तो सुजाता होटल के पक्ष में टेंडर की शर्ते बदल दी गई. बदले में पश्चिमी पटना की 3 एकड़ जमीन डिलाइट मार्केटिंग कंपनी को बहुत ही सस्ती कीमत पर दे दी गई जिसके प्रमोटर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की फैमिली है.  बाद में इस जमीन को लारा प्रोजेक्ट को ट्रांसफर कर दिया गया, जिसके मालिक लालू प्रसाद की फैमिली है.

सीबीआई के अधिकारी ने कहा है कि लालू प्रसाद के खिलाफ यह ‘नोटशीट’ एक ठोस सबूत है. क्योंकि लालू प्रसाद ने अपने पद का इस्तेमाल करते हुए खुद को औ र्पने परिवार को लाभ पहुँचाने का काम किया है. सीबीआई ने कहा कि उन्हें प्रॉपर्टी ट्रांसफर संबंधित कागजात भी हाथ लगी है.

सीबीआई को मिली अति-महत्वपूर्ण कागजात से 5 जुलाई को लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत 7 लोगों पर दर्ज हुए केस में काफी वजन आ जाएगा.

यह भी पढ़ें-  मुसीबत में राजद सुप्रीमो, सीबीआई ने मांगीं रेल मंत्रालय से कई फाइलें