ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर पटना जेडीयू कार्यालय में जश्न का माहौल, नेताओं ने मनायी होली, खूब बंटी मिठाईयां

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: आरसीपी सिंह की जगह जेडीयू के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह बनाए गए हैं. दिल्ली में आयोजित पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में ललन सिंह के नाम पर सर्वसम्मति से मुहर लगी. ललन सिंह के राष्ट्रीय अध्क्ष बनते ही बिहार में पार्टी नेताओं में खुशी की लहर दौड़ गयी. पटना स्थित पार्टी कार्यालय में जश्न का माहौल है. विधानपार्षद संजय सिंह, मुख्य प्रवक्ता व पूर्व मंत्री नीरज कुमार समेत कई बड़े नेताओं ने एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर बधाई दे रहे हैं.

इस मौके पर जेडीयू के प्रदेश उपाध्यक्ष व विधानपार्षद संजय सिंह ने कहा कि ललन सिंह का राजनीति का लंबा अनुभव रहा है. 2005 में जब बिहार में जेडीयू की सरकार बनी तो वो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष थे. 2009 तक उन्होंने बतौर प्रदेश अध्यक्ष बखूबी काम किया. कई बार सांसद रह चुके हैं. अब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए गए हैं. ऐसे में निश्चित ही पार्टी को ज्यादा फायदा पहुंचेगा.

वहीं मुख्य प्रवक्ता व पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि जेडीयू ही एक मात्र ऐसी पार्टी है जहां पर सभी वर्गो का सम्मान मिलता है. उनहोंने वगैर नाम लिए लालू परिवार पर हमला बोलते हुए कहा कि उधर तो बाप, फिर मां और अब बेटा का राज है. यहां काम करने वालों को सम्मान दिया जाता है.

बता दें कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आरसीपी सिंह ने इस्तीफा दे दिया. राष्ट्रीय अध्यक्ष की रेस में ललन सिंह और उपेन्द्र कुशवाहा का नाम सबसे आगे चल रहा था. इन्हीं दोनों में किसी एक को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा था. लेकिन कुशवाहा को पछाड़कर ललन सिंह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए. जिसका अंदेशा पहले से ही लगाया जा रहा था.

राजनीतिक जानकारों की माने तो केन्द्रीय मंत्रिमंडल में ललन सिंह को जगह नहीं मिलने से पार्टी में असंतोष उत्पन्न होने लगा था. भूमिहार गुट में नाराजगी थी. इसको देखते हुए सीएम नीतीश कुमार ने ऐसा निर्णय किया. ललन सिंह नीतीश कुमार के काफी भरोसेमंद रहे हैं. बीच के दो-चार साल को छोड़ दे तो उनका रिश्ता सीएम नीतीश से काफी लंबा रहा है. इसके पहले भी वो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं. 2005-2009 तक पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं.