चिल्लाते रहे कांग्रेस के नये प्रभारी भक्त चरण दास, पार्टी कार्यालय में भिड़ गए नेता, जमकर चले लात-घूसे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार कांग्रेस के नये प्रभारी भक्त चरण दास के सामने पार्टी कार्यालय में नेता व कार्यकर्ताओं ने सोमवार को ट्रेलर दिखलाया था, आज पूरी की पूरी फिल्म ही दिखला दी. बीते कल हुई समीक्षा बैठक में तू-तू,मैं-मैं होकर ही रह गया था, लेकिन आज जमकर उठापटक हुई, कुर्सियां चलीं, धक्का-मुक्की मंच तक हुई और हालत यह हो गई कि धक्का खाते भक्त चरण दास को किसी तरह निकाला गया.

दरअसल पटना से सदाकत आश्रम में किसान मोर्चा की बैठक हो रही थी. इस दौरान नेताओं के बीच कहासूनी हुई. कहासूनी होते होते किसान मोर्चा के नेता राज कुमार सिंह ने कुर्सी चला दी. इसके बाद तो जो हुआ वो काफी शर्मनाक रहा. नेताओं के बीच हो रही मारपीट के बीच भक्त चरण दास फंसे हुए नजर आए. उनके साथ भी धक्का-मुक्की होते देख कुछ नेता आगे आए और उन्हें भीड़ से बाहर निकाला.



मंच से कई नेता कार्यकर्ताओं को संयम रखने की अपील करते रहे, लेकिन किसी पर बातों का कोई असर नहीं हो रहा था. मारपीट के साथ नारेबाजी तेज होती गई. बिहार कांग्रेस के प्रभारी भी कुछ देर तक माइक पर कुछ बोलने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन कोई असर न होता देख दूसरे नेताओं ने उन्हें बुला लिया.

वहीं पार्टी को मजबूत करने के लिए कमेटी बनाए जाने के सवाल पर बिहार कांग्रेस प्रभारी ने बताया कि अभी अपनी कमेटी नहीं बनाऊंगा. काम करने वाले लोगों की पहचान होगी तब बनाऊंगा कमेटी. उन्होंने कहा कि इसके लिए 2 महीने का समय लग सकता है.

उन्होंने कहा कि सभी कमिश्नरी में विधायकों के साथ जाएंगे, कार्यकर्ताओं से वन टू वन मिलेंगे. इस कार्यक्रम की शुरूआत 31 जनवरी से की जाएगी. साथ ही देश के किसानों की समस्या के साथ कांग्रेस को खड़े होने की बात करते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि किसान बिल के विरोध में 15 जनवरी को राजभवन मार्च निकाला जाएगा.