मुख्यमंत्री ने रिडेवलपमेंट ऑफ पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन योजना का लिया जमीनी जायजा, दिए कई आवश्यक निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज पटना स्थित मीठापुर क्षेत्र के विकास तथा स्मार्ट सिटी पटना के तहत रिडेवलपमेंट ऑफ पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन योजना का जमीनी जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने निर्माण कार्यों एवं विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय परिसर पहुंचकर मीठापुर एरिया में स्थापित शैक्षणिक संस्थानों के स्टेट्स की जानकारी ली. परिसर में चलाये जा रहे टीकाकरण केन्द्र जाकर वहां टीकाकरण कार्य की भी जानकारी ली. आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय के एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग में नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर एवं बी0एस0ई0आई0डी0सी0 के प्रबंध निदेशक संजय कुमार सिंह ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से मीठापुर क्षेत्र के विकास तथा प्रपोजड फैसिलिटी ऑफ मीठापुर इंस्टीच्यूशन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी.

मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के दौरान निर्देश देते हुए कहा कि पूरे इंस्टीच्यूषन परिसर का चाहारदीवारी निर्माण कराएं. उन्होंने कहा कि मीठापुर तालाब परियोजना का कॉन्सेप्ट बेहतर है. तालाब के चारो तरफ वृक्ष लगाएं ताकि पूरा क्षेत्र हरियालीयुक्त हो. इस परिसर के सभी संस्थानों के लिए तालाब तक सुगमता से पहुंचने के लिए एक कॉमन संपर्क पथ बनाएं ताकि यहां लोग आसानी से आ जा सकें. तालाब में अधिक पानी होने पर उसके निकास की भी समुचित व्यवस्था करें. उन्होंने कहा कि मीठापुर बसस्टैंड से जिन बसों का आवागमन अभी हो रहा है उन्हें भी शीघ्र नए बस स्टैड में शिफ्ट करें. यहां स्थित पॉवर सबस्टेशन को भी अन्यत्र शिफ्ट करें.

मुख्यमंत्री ने स्मार्ट सिटी पटना के तहत रिडेवलपमेंट ऑफ पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन योजना का जमीनी जायजा लिया. जहां उन्हें नगर एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर, भवन निर्माण विभाग के सचिव कुमार रवि, बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के अध्यक्ष पंकज कुमार पाल द्वारा मल्टी मॉडल हब प्रपोज्ड सब-वे टू पटना जंक्शन वाया मल्टीलेवल पार्किंग आदि से संबंधित विकास कार्यों की जानकारी दी गई.

भ्रमण के पश्चात् पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आपलोग जानते हैं कि इस एरिया में भीड़-भाड़ रहती है. यहां पास में रेलवे स्टेशन है, लोग आते-जाते हैं. रेलवे स्टेशन पर आने वाले वाहनों को पार्किंग की समस्या होती है. इस खाली परिसर में बिल्डिंग बनाने की योजना है. यहां आने-जाने वाले लोगों को सुविधा हो, पार्किंग की व्यवस्था हो, इसके लिए बगल में पहले से ही मल्टी लेवल पार्किंग की व्यवस्था की गई है, लोग उसका इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं. हमने कहा है कि मल्टी लेवल पार्किंग के ऊपरी हिस्से में भोजन आदि की व्यवस्था करें. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विकास योजना को लेकर इसके बारे में हमने रिव्यू मिटिंग की थी जिसमें सारी चीजों पर विस्तृत चर्चा हुई थी. उसी दरम्यान यह चर्चा हुई थी कि साइट पर चलकर इन चीजों को देखेंगे. पहले भी हमने कहा था कि ऊपर से और नीचे से भी रेलवे स्टेषन तक आवागमन की व्यवस्था सुनिश्चित करें. जो डिजाइन दिखाया गया है उसके आधार पर काम किया जाएगा. यहां पर अच्छी बिल्डिंग बनेगी, इंस्टीच्यूशन बनेंगे, जो व्यापार करते हैं उन्हें सुविधा होगी, इन सारी चीजों पर काम किया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कल हमने दानापुर सहित कुछ क्षेत्रों का भ्रमण किया था उस दौरान देखा कि लोगों की भीड़ ज्यादा नहीं थी लेकिन कुछ लोग मास्क नहीं पहने थे. हमने कहा है कि लोगों को मास्क पहनने के लिए को प्रेरित करें. लोगों का मास्क पहनना बहुत जरुरी है. अभी लॉकडाउन खत्म हुआ है, नाइट कर्फ्यू जारी है. कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं. लोगों को सुविधाएं दी जा रही हैं. लोग गाइड लाइन का पालन करते हुए मास्क को पहनेंगे तो यह उनके हित में है.

उन्होंने कहा कि किसी और दिन दूसरे क्षेत्रों का भी भ्रमण करेंगे. हम हर जगह के लोगों से बातचीत करते हैं. सभी जिलों के जिलाधिकारियों से बात होती है और वे अपना फीडबैक देते हैं. फीडबैक के आधार पर यह तय होता है कि आगे क्या निर्णय करना चाहिए. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का बहुत फायदा हुआ है. हमने आज सुबह इन क्षेत्रों का जमीनी मुआयना किया क्योंकि यहां निर्माण कार्य शुरु करना है. कोरोना से बचाव के लिए कार्य किए जा रहे हैं लेकिन उसके साथ-साथ विकास के भी काम किए जा रहे हैं. लोगों को काम का अवसर मिलना चाहिए. हम सबलोगों से निवेदन करते हैं कि मास्क का प्रयोग करें. मास्क का प्रयोग करेंगे तो इससे कोरोना संक्रमण का असर कम होगा. कल हमने पटना भ्रमण के दौरान यह भी जानने की कोशिश की थी कि लोग छूट का उल्लंघन तो नहीं कर रहे हैं. कोरोना संक्रमण के प्रति सभी सतर्क रहें.

भ्रमण के दौरान उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा, शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर, ऊर्जा विभाग के सचिव संजीव हंस, प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल, बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के अध्यक्ष पंकज कुमार पाल, भवन निर्माण विभाग के सचिव कुमार रवि, बी0एस0ई0आई0डी0सी0 के प्रबंध निदेशक संजय कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के विषेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा सहित अन्य वरीय अधिकारी मौजूद थे.